निकाय चुनाव से पहले यहां भारी मात्रा में असलहा बरामद, दो तस्कर भी गिरफ्तार

निकाय चुनाव से पहले यहां भारी मात्रा में असलहा बरामद, दो तस्कर भी गिरफ्तार

Akhilesh Tripathi | Publish: Nov, 14 2017 01:09:09 PM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

इलाहाबाद और चंदौली के रहने वाले यह तस्कर उत्तर प्रदेश के कई जिलों में पिस्टल, तमंचे और मैग्जीन सप्लाई कर रहे थे।

इलाहाबाद. चुनावी सरगर्मियों के बीच एक बार फिर असलहा तस्करी का भंडाफोड़ हुआ है। एसटीएफ ने दो बदमाशों को गिरफ्तार कर भारी मात्रा में असलहे बरामद किए हैं। इलाहाबाद और चंदौली के रहने वाले यह तस्कर उत्तर प्रदेश के कई जिलों में पिस्टल, तमंचे और मैग्जीन सप्लाई कर रहे थे।

 

शातिरों के पास से पांच पिस्टल एक बरामद हुई जो मेड इन यूएसए और इटली है। एक तमंचा और भारी मात्रा में मैग्जीन भी मिली है। गिरोह के तार वाराणसी और कानपुर से जुड़ रहे हैं। निकाय चुनाव के मद्देनजर कई बदमाशों ने पिस्टल मंगाई थी। असलहे औरंगाबाद से लाए जा रहे हैं।एसटीएफ के एएसपी प्रवीण सिंह चौहान के मुताबिक, एसटीएफ पूरे प्रदेश में असलहा तस्करी को लेकर धरपकड़ अभियान चला रही है। सटीक सूचना पर इंस्पेक्टर अतुल सिंह, अजय सिंह, एसओ जार्जटाउन पंकज सिंह ने सोमवार को जीआइसी कालेज के सामने पेट्रोल पंप के पास घेराबंदी कर दो तस्करों को गिरफ्तार कर लिया।

 

पकड़े गए तस्करों में सिराज उद्दीन उर्फ पप्पू पुत्र अलीमुद्दीन निवासी नार्थ मलाका कोतवाली और आशोक सिंह उर्फ टुन्नू पुत्र लालजी सिंह निवासी समुदपुर, बलुआ चंदौली हैं। इनके कब्जे से पांच पिस्टल, दस मैग्जीन, दो कारतूस, एक बाइक, एक डीएल, पचास हजार एक सौ रुपये और अन्य सामान बरामद हुआ है। ये बदमाश वाराणसी से पिस्टल लेकर बस से इलाहाबाद आए थे।

 

 

इंस्पेक्टर अतुल सिंह के मुताबिक, सिराजउद्दीन ने बताया कि पहले वह जार्जटाउन के रहने वाले श्रवण के साथ असलहा तस्करी करता था। अब चार साल से वह खजुरी वाराणसी के रहने वाले आशीष सिंह के साथ पिस्टल बेचने लगा। वाराणसी से असलहे अशोक सिंह नामक शख्स लाता है। असलहों का लेनदेन रामबाग रेलवे क्रासिंग पर होता है। फिर बस से वाराणसी चला जाता है। पिस्टल बीस हजार से चालीस हजार रुपये तक बेची जाती हैं। एएसपी प्रवीण सिंह चौहान के मुताबिक, इस गिरोह ने गोलू सिंह, आकाश पहाड़ी, जाने आलम को दर्जनों असलहे मुहैया कराए हैं। असलहे औरंगाबाद बिहार से लाए जा रहे हैं।

 

BY- Prasoon Pandey

Ad Block is Banned