ढाई साल की मासूम बच्ची के हत्यारे की जमानत अर्जी हाईकोर्ट ने की खारिज

कोर्ट ने कहा है कि आरोप अत्यंत गंभीर है। ऐसे जघन्य कृत्य के आरोपी को जमानत पर छोड़े जाने का कोई आधार नहीं है ।

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अलीगढ़ के टप्पल थाना क्षेत्र में ढाई साल की मासूम बच्ची की हत्या व षडयंत्र के आरोपी मेहंदी हसन की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। कोर्ट ने कहा है कि आरोप अत्यंत गंभीर है। ऐसे जघन्य कृत्य के आरोपी को जमानत पर छोड़े जाने का कोई आधार नहीं है ।

यह आदेश न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा ने दिया है। शिकायतकर्ता बनवारी लाल के अधिवक्ता अभिषेक चौहान ने जमानत अर्जी का विरोध किया। मालूम हो कि 30 मई 2019 को शिकायतकर्ता की ढाई साल की बेटी घर से लापता हो गई। जिसका मृतक शरीर 2 जून को प्राप्त हुआ। पुलिस विवेचना के दौरान 4 आरोपियों पर हत्या का आरोप पाया गया । जाहिद ,असलम ,सबुस्ता व मेहदी हसन पर हत्या व षडयंत्र का आरोप पत्र दाखिल हुआ। जाहिद ने मृतका के पिता से लोन लिया था। पैसा वापस मांगने के कारण जघन्य अपराध किया गया। लड़की की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृत्यु से पूर्व शरीर के विभिन्न अंगों में गंभीर चोटें पाई गयी। पुलिस ने चार्जशीट दाखिल कर दी है।

BY- Court Corrospondence

Akhilesh Tripathi
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned