UP Board Examination 2019 : एग्जाम की तिथि घोषित, 16 दिन में पूरी होगी परीक्षा

UP Board Examination 2019 : एग्जाम की तिथि घोषित, 16 दिन में पूरी होगी परीक्षा

Prasoon Pandey | Publish: Sep, 11 2018 10:39:36 AM (IST) | Updated: Sep, 11 2018 02:48:58 PM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

UP Board Examination 2019 : उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश दिया कि 16 कार्य दिवसों में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं संपन्न कराई जाए।

इलाहाबाद:उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षा को लेकर एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए सरकार ने UP Board को निर्देश दिया है की यूपी बोर्ड की प्रस्तावित 2019 की परीक्षाएं नकलविहीन हो।और इन्हें कम समय अवधि में समाप्त कराया जाए। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश दिया कि 16 कार्य दिवसों में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं संपन्न कराई जाए। यूपी बोर्ड के अनुसार जल्द ही परीक्षाओ का टाइम टेबल (UP Board Exam 2019 Time Table) घोषित किए जाने की उम्मीद है।

दरअसल सूबे में सरकार बदलने के बाद से Uttar Pradesh Board की परीक्षा सहित अन्य शिक्षा प्रणाली में बड़े बदलाव को लेकर उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कई अहम फैसले लिए।जिसमें यूपी बोर्ड के निर्णय को अहम माना जा रहा है। बता दें बोर्ड परीक्षाएं 6 फरवरी 2018 से शुरू हुई और 10 मार्च तक परीक्षाएं चली थी। जबकि इस बार इसे और भी कम समय में पूरा करने का निर्देश दिया गया है ।डॉ दिनेश शर्मा ने निर्देश दिया है कि परीक्षाएं फरवरी माह में ही संपन्न करा ली जाए।

वहीं सरकार ने अहम फैसला लेते हुए निर्देश दिया है, कि हाईस्कूल और इंटरमीडिएट में सभी विषयों के एक ही एक ही प्रश्न पत्र होंगे। जिससे परीक्षाओं को कम समय में पूरा कराने में UP Board को आसानी होगी।बता दें कि उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश जारी किया है।साथ ही अब तक परीक्षाओं को लेकर बोर्ड में चल रही तैयारियों की समीक्षा की है।

डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि फरवरी 2019 में कुंभ और आने वाले त्योहारों के कई पर्व है। जिससे परीक्षाएं प्रभावित होगी। इसलिए परीक्षा की तिथि सुनिश्चित करते समय हुए इन बातों का ख्याल रखे की परीक्षाएं अवरोधित न हो। और समय भी ज्यादा न लगे। साथ उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि जिला विद्यालय निरीक्षक 15 सितंबर तक केंद्रों के निरीक्षण का काम पूरा कर लें।परीक्षा केंद्र निर्धारण में किसी भी तरह की अनियमितता बर्दास्त नहीं होगी।

परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे वॉइस रिकॉर्डिंग सहित अन्य सुविधाओं से लैस केंद्रों को ही परीक्षा केंद्र बनाया जाएगा। वहीं उपमुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2018 की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के लिए मानदेय का भुगतान तत्काल करा दिया जाएगा।उत्तर पुस्तिकाओं में डी कोडिंग की प्रक्रिया अपनाई जाएगी।वही बोर्ड की परीक्षाओं में छात्राओं के लिए स्वकेंद्र परीक्षा केंद्रों का निर्धारण किए जाने की भी बात कही।केंद्र निर्धारण होने के बाद किसी भी तरह का परिवर्तन परीक्षा केंद्रों में नहीं किया जाएगा।

बोर्ड परीक्षाओं में जिले स्तर पर कंट्रोल रूम की स्थापना की जाएगी।जहां पर हर केंद्र की पूरी जानकारी उपलब्ध होगी।सभी केंद्रों को जीपीएस से लिंक किया जाएगा। साथ ही सभी केंद्रों की एक ईमेल आई डी बनाई जाएगी।जिसके तहत वह अपनी जानकारी आदान प्रदान कर सकते हैं।

Ad Block is Banned