संगम की रेती पर विश्वहिन्दू परिषद् का महामंथन, तय हुआ राम मंदिर का एजेंडा

Prasoon Pandey

Publish: Jan, 13 2018 04:18:40 PM (IST)

Allahabad, Uttar Pradesh, India
संगम की रेती पर विश्वहिन्दू परिषद् का महामंथन, तय हुआ राम मंदिर का एजेंडा

जानिए राममंदिर निर्माण के लिये क्या बनी रणनीत ,जानिए कैसे बनेगी राम मंदिर

इलाहाबाद मिशन 2019 के लिए भारतीय जनता पार्टी की नैया पार लगाने और सत्ता के शीर्ष पर एक बार स्थापित करने और विकास के साथ साथ राम ही तारण हार होंगे। इसकी पहल और झलक संगम नगरी में देखने को मिल रही है।विहिप के आंतरिक सूत्रों की माने तो संघ ने इसको लेकर माहौल बनाना शुरु कर दिया है। उसने सरकार को जनहित से जुडे कामों पर जोर देने और उन्हे जमीन पर उतारने का सुझाव दिया है। संघ ने गाँव गाँव प्रवास करने के लिये कार्यकताओं को सूचित कर दिया है।और वहाँ की स्थानीय समस्याओं को विभाग और प्रांत के बड़े पदाधिकारियों तक पंहुचाने का भी काम शुरू हो गया है।वहीं आनुषांगिक संगठनों को धार्मिक भावनाओं को प्रबल करने की रणनीति बनाने को कहा है।

इसी के तहत वीएचपी ने एजेंडा तय कर लिया है। की गाँव के साथ शहरों में घर घर राम का सभी हिंदु परिवार में राम मूर्ति की स्थापना और गांव में एक आदमकद मूर्ति की स्थापना हिंदु नव वर्ष में परिवार या गांव के मुखिया की सहमति से करवायी जायेगी।राममंदिर निर्माण में राज्यसभा में अल्पमत को बाधा को बताते हुए मिशन 2019 को कामयाब बनाने के लिए विहिप कार्यकर्ता हिंदू नववर्ष से घर-घर संपर्क अभियान छेड़ेंगे। प्रयाग में माघ मेला में तीन दिवसीय बैठक हुई। जिसमें काशी,अवध,गोरक्ष और कानपुर प्रांत के प्रमुख पदाधिकारी और जिलों के पदाधिकारी शामिल हुए।इस बैठक में साल भर चलने वाले विहिप के एजेंडों पर मुहर लगाई गई।

संगम की रेती से चुनाव से पहले हिंदुत्व की अलख जगाने के लिए विश्व हिंदू परिषद का तीन दिन चला महामंथन आज समाप्त हुआ।अयोध्या में राम मंदिर ? निर्माण के लिए विश्व हिंदू परिषद की बैठक चली जिनमें 2019 को राम मंदिर के लिए निर्णायक वर्ष बनाने की तैयारी है। विश्व हिंदू परिषद की बैठक में राष्ट्रीय पदाधिकारियों द्वारा सालभर चलने वाले कार्यक्रमों की रूप रेखा पर विस्तृत चर्चा की जिसमे गांव गांव में छोटी.छोटी समितियां बनाकर और इन समिति के सदस्यों की एक टोली तैयार कर के ग्रामीण इलाकों में घूमना है।और लोगों को विहिप के आंदोलन से एक बार फिर जोड़ना है।माघ मेले में तीन दिन से चल रही विश्व हिंदू परिषद की बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा हुई।देश भर से आए कार्यकर्ताओं ने गंगा रक्षा गोरक्षा जैसे तमाम मुद्दों पर चर्चा की।

विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री संगठन दिनेश जी ने बताया कि विश्व हिंदू परिषद एक संगठन की नहीं बल्कि समाज और राष्ट्र और संस्कृति की रक्षा करने के एक अभियान का हिस्सा भी है। विहिप के गठन के बाद से हिन्दू समाज के लिये और राम जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन गोरक्षा आंदोलन गंगा रक्षा आंदोलन का राम सेतु रक्षा आंदोलन अमरनाथ साइन बोर्ड आंदोलन जैसे तमाम सफल मुहिम का नेतृत्व किया है। बैठक में तय किया गया कि आंदोलन को गति देने के लिए छोटी.छोटी समितियां बनाई जाएंगी सेवा केंद्र चले जाएंगे चिकित्सा शिक्षा की सुविधा के लिए काम किया जाएगा आदिवासी हिंदुओं को संगठन से जोड़ा

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned