घंटो पानी में खड़े होकर पांव से निकालते हैं युवा सिक्का, ऐसे दे रहे गरीबी को मात

दिनभर में 200 से 300 रुपए तक मिल जाते है, ठेकेदार भी लगाते है अपने कर्मचारी

By: Ashish Shukla

Published: 19 Jan 2019, 09:20 PM IST

सुधीर पंडित
प्रयागराज. घंटो पानी में खड़े होकर कुछ युवक लगातार गंगा में पांव चला रहे थे। कुंभ में स्नान करने वालों के बीच कुछ युवक न तो कपड़ा उतारे थे और न ही स्नान कर रहे थे। जब पत्रिका ने इस बार में जानने का प्रयास किया तो उन्होंने बताया कि वे जनता द्वारा गंगा को चढ़ाए गए सिक्के खोज रहे है। इसके लिए वे रेती में लगातार पांव चलाकर सिक्का निकालते है।

शनिवार की शाम को संगम पर लगभग 10 युवक गंगा में कई घंटो तक अपने पैर चला रहे थे। आधे कपड़े पहने युवकों ने बताया कि वे गंगा नदी में चढ़ाए गए सिक्के ढूंढ रहे है। पूरे दिन में वे गंगा में सिक्कों की तलाश करते है। इसमें उन्हें 200 से लेकर 300 रुपए तक मिल जाते है।कई बार तांबे-पीतल का लौटा सहित अन्य किमती धातु भी हाथ लग जाती है। इलाहबाद निवासी आदर्श ने बताया कि पिछले 10 घंटों से वे सिक्के की तलाश कर रहे है। शनिवार का दिन उसके लिए अच्छा नहीं रहा। 150 रुपए ही हाथ लगा है। वहीं रमेश का दिन अच्छा रहा। उसने एक ही घंटे में 100 रुपए से ऊपर तलाश लिए। घंटो पानी में सिक्के तलाशने से उनके पैर तो गल ही रहे है साथ ही ठंड के कारण कपकपा रहे है।

ठेकेदार भी लगाते है कर्मचारी

गंगा किनारे कई ठेकेदार भी सक्रिय हो चुके है। ठेकेदार रोजनदारी पर कर्मचारी लगाते है। नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि उनका ठेकेदार उन्हें देख रहा है। कृपया आप वहां से हट जाए। नहीं तो उन्हें गाली सुनना पड़ेगी। ज्यादा कुछ बताने से मना करते हुए दूसरी जगह चला गया।

पुलिस प्रशासन को भी है मालूम

संगम पर जहां शाही स्नान हुआ था वहां पर अधिक जनता स्नान कर रही थी। उनके बीच में बड़ी संख्या में कुछ युवक लगातार सिक्के तलाश रहे थे। पुलिस ने आकर भी उन्हें टोका पर वे वहां से निकलकर दूसरी जगह चले गए। रिपोर्टर ने पुलिस को बताया की सिक्का तलाश रहे है तो पुूलिसकर्मी ने बताया कि वह तो जानते है। लेकिन क्या कर सकते है। लेकिन चोरी अधिक होने से सख्ती करना पड़ती है।

Show More
Ashish Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned