अलवर बंद : दिनभर सूने रहे अलवर के बाजार, यहां पढि़ए शहर के हालात की लाइव कवरेज

अलवर बंद : दिनभर सूने रहे अलवर के बाजार, यहां पढि़ए शहर के हालात की लाइव कवरेज

Hiren Joshi | Publish: Sep, 07 2018 10:54:28 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/alwar-news/

अलवर. अलवर बंद के दौरान अलवर शहर के अधिकतर सरकारी कार्यालयों में सूनापन बना रहा। इस दौरान सब्जी मंडी भी बेरौनक रही। इस हड़ताल को पत्रिका रिपोर्टर ने लाइव कवरेज किया।
समय- दोपहर एक बजे।
स्थान- जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक व प्रारम्भिक कार्यालय।
इस समय शिक्षा विभाग के इस कार्यालय में अधिकतर कमरे बंद हैं। यहां के कमरों में कोई नहीं है। इस समय यहां जिले के विभिन्न भागों से लोग अपनी समस्याएं लेकर पहुंच रहे हैं लेकिन बाबूओं के नहीं बैठने के कारण उन्हें वापस जाना पड़ रहा है। यहां दो सहायक कर्मचारी कर्मचारी बैंच पर बैठी हुई थी। जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक कोर्ट केस को लेकर जयपुर गए हुए हैं। इसी प्रकार जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक कार्यालय में भी अधिकतर बाबू अवकाश पर हैं। यहां दोनों कार्यालयों के अधिकतर बाबूओं ने सामूहिक अवकाश ले लिया है। यहां जिला शिक्षा अधिकारी व अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी बैठे हुए हैं।
बन्द का असर अलवर के कुछ सरकारी कार्यालयों में अधिक दिखा। जहां कार्यालय के भीतर अधिकतर शाखाओं में कुर्सियां खाली रही। जनता के काम नहीं हो सके। जो लोग इन कार्यालयों में गए निराश होकर लौट आए। कुछ जगहों पर एक दिन पहले कर्मचारियों ने सार्वजनिक अवकाश ले लिया।

अलवर यूआईटी कार्यालय में सूनापन
अलवर यूआईटी कार्यालय में सूनापन छाया रहा। जहां कार्यालय के बाहर व भीतर दुपहिया व चौपहिया वाहनों से आए दिन जमा लगता है वहां कोई नहीं दिखा। कार्यालय के अन्दर अधिकारियों के कक्ष पर ताले लटके मिले। कुछ शाखाओं में आठ से दस कर्मचारी व अधिकारियों की र्कुसी तो मिली। लेकिन वहां कोई कर्मचारी व अधिकारी नहीं मिला। जिसके कारण कुछेक लोग अपने कार्य कराने के लिए वहां गए। जिनको निरोश लौटना पड़ा।
समय- 2 बजे।

स्थान थोक सब्जी मंडी।
अनाज मण्डी में परबतसर से गोबी पहुंची अनाजमण्डी में करीब 1 लाख रुपए की गोबी परबतसर से पहपुंच गई। पॉलिथीन में बंधी गोबी को खरीददार नहीं मिले। मण्डी में अधिकतर दुकानें ही बन्द मिली। मजदूर व दुकानदार ताश खेलते मिले।
यहां गोबी लेकर आए माडाराम ने बताया कि उसे जानकारी नहीं थी कि मण्डी बन्द रहेगी। परबतसर से एक पिकअप गोबी लेकर आ गया। अब शुक्रवार सुबह तक इन्तजार करना पड़ेगा।

दोपहर एक बजे।
स्थान पुरानी सब्जी मंडी।
शहर के बीचों बीच घंटाघर स्थित सब्जी मंडी में हर रोज रौनक रहती है । सब्जी बेचने वाले, खरीदने वालों से मंडी हमेशा में शोर गुल होता रहता है।
लेकिन गुरुवार को बंद होने के चलते यहां पूरी तरह से सूनापन छाया हुआ था, सब्जी विक्रेता दुकानें बंद कर ताश खेल रहे थे। ठेलियां एक तरफ खाली पड़ी हुई थी और सब्जी वाले अधिकतर आए ही नहीं। इससे यहां शाति छाई हुई थी। सब्जी विक्रेता गोरधन सिंधी का कहना था कि बहुत कम होता है कि मंडी में अवकाश हो, इसलिए आज अपने घर के काम निपटाने जा रहा हूं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned