अलवर जेल से रिहा किए इतने बांग्लादेशी, अब इस तरह भेजा जाएगा बांग्लादेश

Prem Pathak

Publish: May, 18 2018 10:48:55 AM (IST)

Alwar, Rajasthan, India
1/2

पिछले अप्रेल माह में बहरोड़ के माजरी व बानूसर में पकड़े गए बांग्लादेशियों में से 23 महिला व बच्चों को गुरुवार को जेल से रिहा किया गया।

राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जयपुर के निर्देशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अलवर ने कारागृह में निरुद्ध महिला बंदीजनों तथा उनके साथ रह रहे बच्चों के लिए विधिक सेवा शिविर लगाया। जिसमें 14 बांग्लादेशी महिलाओं के साथ 9 बच्चों को भी रिहा किया गया। ये महिलाएं उपखंड मजिस्ट्रेट नीमराणा और बानसूर के आदेश से निरुद्ध थी। इनके पास कोई जमानती भी नहीं था। इसके चलते प्राधिकरण ने विधिक सहायता उपलब्ध करवाई।

उल्लेखनीय है कि राजस्थान पत्रिका ने 22 अप्रेल के अंक में एक्सक्लूसिव समाचार प्रकाशित कर बहरोड़ के माजरी में बांग्लादेशियों के होने का समाचार प्रकाशित किया था। इसके बाद जिला पुलिसअधीक्षक की विशेष टीम ने कार्रवाई कर बांग्लादेशियों को गिरफ्तार किया था। अब विधिक प्रक्रिया के तहत उनको रिहा कर वापस बांग्लादेश भेजा जा रहा है।

10 दिन चलेगा शिविर

पूर्णकालिक सचिव पवन जीनवाल ने बताया कि इस मौके पर अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश संख्या 02 देवेंद्र सिंह नागर, उपभोक्ता मंच के न्यायाधीश बलदेवराम चौधरी, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रेणुका सिंह हुड्डा ने फीता काटकर शिविर का शुभारंभ किया। न्यायिक अधिकारियों ने बंदी महिलाओं व उनके बच्चों को कानूनी अधिकारों के बारे में बताया। 10 दिवसीय विशेष अभियान के तहत 19 मई को जेल में बंद महिलाओं के लिए चिकित्सा शिविर लगाया जाएगा। जिसके लिए एक टीम बनाई गई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned