scriptAlwar Central Jail Illegal Weapons Are Proof Of Gangwar Planning | राजस्थान के इस जेल में बड़े गैंगवार की साजिश, हथियार और जिंदा कारतूस मिले, मचा हडक़ंप | Patrika News

राजस्थान के इस जेल में बड़े गैंगवार की साजिश, हथियार और जिंदा कारतूस मिले, मचा हडक़ंप

अलवर सेंट्रल जेल में बुधवार सुबह तलाशी के दौरान बंदी वार्ड नम्बर.6 के गटर में कपड़े लिपटा हुआ देसी कट्टा और कारतूस मिला। जिसे देखकर जेल अधिकारियों को होश उड़ गए।

अलवर

Published: December 31, 2021 03:36:35 pm

अलवर. सेंट्रल जेल अलवर में बड़े गैंगवार की साजिश रची जा रही थी। जिसमें जेल स्टाफ की भी संलिप्तता हो सकती है। बंदी वार्ड के गटर से देसी कट्टा और कारतूस मिलना इसका पुख्ता प्रमाण है। जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर यह बड़ा सवाल है कि आखिर जेल के भीतर हथियार कैसे पहुंचा। जेल प्रशासन और पुलिस दोनों ही इस मामले में अब तक कोई बड़ा खुलासा नहीं कर पाए हैं।
Alwar Central Jail Illegal Weapons Are Proof Of Gangwar Planning
राजस्थान के इस जेल में बड़े गैंगवार की साजिश, हथियार और जिंदा कारतूस मिले, मचा हडक़ंप
अलवर सेंट्रल जेल में बुधवार सुबह तलाशी के दौरान बंदी वार्ड नम्बर.6 के गटर में कपड़े लिपटा हुआ देसी कट्टा और कारतूस मिला। जिसे देखकर जेल अधिकारियों को होश उड़ गए। शुरुआत में जेल अधिकारियों ने इस सनसनीखेज मामले को दबाने का प्रयास किया और मीडिया को जानकारी देने बचते रहे। इसके बाद जेल प्रशासन ने इस मामले की एफआइआर शहर कोतवाली थाने में दर्ज करा अपना पल्ला झाड़ लिया। जेल के भीतर हथियार और कारतूस कैसे पहुंचा। आखिर हथियार किस बदमाश ने मंगाया और उसके पास तक यह हथियार किस माध्यम से पहुंचाया। जेल में हथियार मंगाने वाला बदमाश किस वारदात को अंजाम देने की फिराक में था। जैसे तमाम सवाल अलवर जेल प्रशासन की सुरक्षा व्यवस्था पर खड़े हो रहे हैं। वहीं, अलवर जेल की सुरक्षा में लगी इस सेंध के बारे में अब तक जेल प्रशासन और कोतवाली थाना पुलिस की जांच कोई ठोस नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है।
कई दुर्दांत अपराधी है अलवर जेल में

अलवर सेंट्रल जेल में फिलहाल करीब 850 बंदी हैं। इनमें से कई दुर्दांत अपराधी हैं जो कि बड़े गैंगवार, हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, डकैती, फायरिंग और अपहरण जैसे मामलों में हार्डकोर अपराधी हैं। वहीं, जेल के अंदर कई बदमाश गुटों में वर्चस्व की लड़ाई भी चलती रहती है। इन हालातों के बीच जेल के भीतर हथियार पहुंचना बड़े गैंगवार की तरफ इशारा करता है।
पहले भी हो चुका है बंदियों में झगड़ा

अलवर सेंट्रल जेल में बंदियों के बीच पहले भी कई बार झगड़ा हो चुका है। जिसमें कई बंदी घायल भी हो चुके हैं। वहींए जेल में बंदियों के कब्जे से मोबाइल मिलने की घटना भी कई बार हो चुकी है। जेल के भीतर पुराने बंदियों की ओर से नए बंदियों से अवैध वसूली करने के भी मामले सामने आ चुके हैं। इस बार जेल के भीतर हथियार मिलना बड़ी गंभीर बात है। जबकि जेल परिसर में सीसीटीवी कैमरे भी लगे हुए हैं तथा बंदियों की तलाशी भी ली जाती है। इसके बावजूद आखिर हथियार जेल के भीतर कैसे पहुंच गया।
अनुसंधान चल रहा है

अलवर सेंट्रल जेल के भीतर देसी कट्टा और कारतूस मिलने के मामले में अनुसंधान किया जा रहा है। हथियार जेल में कैसे पहुंचा और किस बंदी द्वारा किस मकसद से मंगवाया गया। इस बारे में फिलहाल कुछ पता नहीं चला है।
. महेश शर्मा, थानाधिकारी, शहर कोतवाली, अलवर।
जांच कर रहे हैं

जेल में बंदी वार्ड के गटर से हथियार मिलने के मामले में जांच की जा रही है। हथियार कैसे अंदर पहुंचा इस बारे में अभी कुछ पता नहीं चला है।
. संजय यादव, अधीक्षक, सेंट्रल जेल, अलवर।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.