कोरोना का कहर: अलवर जिले में बाहर से आए 22 हजार से ज्यादा लोग, केवल इतने लोगों की हुई कोरोना जांच

अलवर जिले में बाहर से 22 हजार से भी ज्यादा लोग जिले में आ गए, लेकिन इनमें से बेहद कम लोगों की कोरोना जांच की गई है

By: Lubhavan

Published: 28 May 2020, 04:05 PM IST

अलवर. जिले में एक मई से 25 मई तक करीब 22 हजार से अधिक लोग जिले व प्रदेश के बाहर से आ चुके हैं। जबकि सैंपल केवल करीब चार हजार 700 जांच हुए हैं। एक दिन में औसतन 200 सैंपल भी जांच नहीे हो पाते हैं। जबकि बाहर से हर दिन करीब एक हजार से अधिक लोग आए हैं। पिछले कुछ दिनों से बाहर से आने वालों में ही कोरोना संक्रमण अधिक मिला है। जिसके कारण चिकित्सा प्रशासन जिले के बाहर काम करने वालों के वापस लौटने पर उनके सैंपल भी ज्यादा से ज्यादा लेने के प्रयास किए हैं।

19 जने कोरोना संक्रमित

पिछले करीब 25 दिनों में जिले के बाहर से आने वाले 22 हजार में से 14 सौ व्यक्तियों के सैंपल लिए गए। जिसमें से 19 जने कोरोना संक्रमित आ चुके हैं। जबकि 20 हजार से अधिक लोगों के सैंपल लिए ही नहीं हुए। इस हिसाब से सभी बाहर से आने वालों के सैंपल जांच होने में तो कई साल लग जाएंगे। हालांकि प्रशासन का कहना है कि रेण्डम सैंपल ही लिए जाते हैं। उनमें से कोई संक्रमित आता है तो उसके सम्पर्क वालों की जांच होती है। प्रत्येक व्यक्ति का सैंपल लेना संभव भी नहीं है।

इनमें भी महाराष्ट्र से आने वाले अधिक संक्रमित

अन्य राज्यों की तुलना में महाराष्ट्र से आने वाले व्यक्ति अधिक कोरोना संदिग्ध हैं। अलवर जिले में अब तक करीब 10 जने महाराष्ट्र से आए हैं जिनकी कोरोना जांच पॉजिटिव आ चुकी है। लेकिन, जिले में कोरोना के पॉजिटिव मरीज जल्दी नेगेटिव भी हुए हैं। दूसरा बचाव अभी तक यह रहा है कि जिले में कोरोना की लम्बी चेन नहीं बन सकती है। जिससे संक्रमितों का आंकड़ा तेजी से नहीं बढ़ा है। अब तक एक दिन में 11 मई को सबसे अधिक 11 जने कोरोना संक्रमित आए हैं। सीएमएचओ डॉ. ओपी मीणा ने बताया कि रेण्डम सैंपल से जांच होती है। औसतन 200 से अधिक सैंपल जांच होने लगे हैं।

coronavirus
Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned