पैदल जाने वाले प्रवासी श्रमिकों को शिविरों में कराएं भोजन की व्यवस्था

अलवर. लॉक डाउन के चलते प्रवासियों के पैदल पलायन की समस्या के निराकरण के लिए राज्य सरकार की ओर से जारी आदेश के तहत जिला प्रशासन ने उन्हें अपने गृह राज्यों में भेजने के लिए बस व ट्रेनों की तैयारी शुरू कर दी है।

By: Prem Pathak

Published: 10 May 2020, 11:53 PM IST

अलवर. लॉक डाउन के चलते प्रवासियों के पैदल पलायन की समस्या के निराकरण के लिए राज्य सरकार की ओर से जारी आदेश के तहत जिला प्रशासन ने उन्हें अपने गृह राज्यों में भेजने के लिए बस व ट्रेनों की तैयारी शुरू कर दी है।

जिला कलक्टर ने सभी उपखण्ड अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो श्रमिक अपने गृह निवास के लिए पैदल जा रहे हैं उन्हें वहीं पर रोकें तथा शिविर में उनके लिए भोजन-पानी की व्यवस्था कराएं। किसी भी सूरत में प्रवासी श्रमिकों को पैदल नहीं चलने दिया जाए। पैदल पलायन करने वाले श्रमिकों को अधिकारी समझाएं कि उनके लिए प्रशासन सभी आवश्यक प्रबंध करने में जुटा है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने अभी तक जाने के लिए अपना पंजीकरण करवाया है, इसी पंजीकरण की सूचना के आधार पर यह सुनिश्चित किया जाए कि कितने श्रमिक जाना चाहते हैं और कितने नहीं जाना चाहते। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की गाइड लाइन के अनुसार श्रमिकों का डेटा प्रान्त व जिलेवार एकत्रित कर उन्हें पहुंचाने के लिए व्यवस्था की जा रही है। रेल व बसों के माध्यम से श्रमिकों को उनके गृह प्रान्तों के लिए व्यवस्था कर अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी जा रही है।

मध्यप्रदेश बसों से भेजे, उत्तराखंड भेजने की तैयारी

जिला प्रशासन ने रविवार को करीब 7 बसों से प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य मध्यप्रदेश के लिए रवाना किया। इनमें थानागाजी, रामगढ़ व लक्ष्मणगढ़ से बसों से श्रमिकों को भिजवाने की व्यवस्था की गई। उत्तराखंड के करीब 700 श्रमिकों को भी उनके गृह राज्य की सीमा तक भिजवाने के लिए वहां की सरकार से बात की जा रही है। जल्द ही उत्तराखंड के श्रमिकों को भी उनके गृह जिले में भेजा जा सकेगा। इसी तरह अन्य प्रदेशों के प्रवासी श्रमिकों को भेजने की व्यवस्था की जा रही है।

बिहार व उत्तर प्रदेश के लिए चार-चार ट्रेन मांगी

जिले में रहने वाले उत्तर प्रदेश व बिहार प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जिले में भिजवाने के लिए चार-चार ट्रेनें मांगी गई है। जल्द ही ट्रेनों की व्यवस्था होने पर वहां के प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य में भिजवाया जा सकेगा। इसके अलावा अन्य प्रदेशों के प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य में भिजवाने के लिए वहां की सरकार व प्रशासन से बात कर व्यवस्था की जा रही है।

कंट्रोल रूम पर दे सकते हैं सूचना

प्रवासी श्रमिक समस्या के निराकरण के लिए जिला प्रशासन के कंट्रोल रूम पर सूचना दे सकते हैं। यदि किसी प्रवासी श्रमिक को कोई परेशानी है तो वह कंट्रोल रूम पर इसकी जानकारी दें।

प्रवासी श्रमिकों को पैदल जाने से रोकने के निर्देश

जिले में प्रवासी श्रमिकों को पैदल जाने से रोकने के निर्देश दिए गए हैं। अधिकारी पैदल जाने वाले श्रमिकों को शिविरों में ठहराएं और भोजन आदि की व्यवस्था कराएं। जिला प्रशासन प्रवासी श्रमिकों के लिए वहां के प्रशासन से बात कर बस, ट्रेन आदि की व्यवस्था कराने के प्रयास में जुटा है।

इंद्रजीत सिंह

जिला कलक्टर अलवर

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned