अलवर जिले में 12 दिन से कोरोना का एक भी पॉजिटिव नहीं, तीन दिन बाद येलो से ग्रीन जोन में आ सकता है अलवर

अलवर जिले के लिए अच्छी खबर है, यहां पिछले 12 दिनों से कोरोना का एक भी पॉजिटिव नहीं मिला है, अगर अगले 3 दिन तक एक भी पॉजिटिव नहीं मिलता तो जिला येलो से ग्रीन जोन में आ जाएगा

By: Lubhavan

Updated: 23 Apr 2020, 02:40 PM IST

अलवर. 40 लाख की आबादी वाले जिले ने लॉकडाउन की पालना बरकरार रखी तो आगामी तीन दिन बाद अलवर जिला यलो से ग्रीन जोन में आ सकता है। जिले में पिछले 12 दिनों से कोरोना को कोई नया संक्रमित नहीं मिला है। आखिरी कोरोना का मरीज 11 अप्रेल को मिला था। उसके बाद करीब 781 जनों की कोरोना सैंपल की जांच हो चुकी है। जिसमें से एक भी नया पॉजिटिव मरीज सामने नहीं आया है।

बुधवार तक अलवर जिले में करीब 1800 सैंपल की रिपोर्ट आ चुकी है। जिसमें से केवल सात जने पॉजिटिव हैं। जो 11 अप्रेल से पहले ही आए हैं। उल्लेखनीय है कि जिले में पहला मरीज 30 मार्च की रात को आया था। उसके बाद 11 अप्रेल तक कुल आठ मरीज सामने आए हैं। जिसमें से कठूमर निवासी बुजुर्ग की मौत हो चुकी है। शेष सात में से चार ठीक हो चुके हैं। तीन का इलाज जारी हैं। उनके भी बहुत जल्दी स्वस्थ होने की संभावना है। लगातार 14 दिनों से कोई भी कोरोना का नया मरीज सामने नहीं आने से जिले को यलो से ग्रीन जोन में आने की उम्मीद बनी है। यह तभी संभव हो सकेगा जब सभी लोग घरों में रहें और सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करें।

अब भिवाड़ी व अलवर शहर में दुबारा होगा सर्वे

कोरोना संक्रमण का खतरा घनी आबादी वालों जगहों पर ज्यादा है। इसके अलावा मॉडिफाइड लॉकडाउन के तहत कुछ बदलाव होने के कारण प्रशासन ने अलवर शह व भिवाड़ी क्षेत्र में पुन: सर्वे शुरू कर दिया है। चिकित्सा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कच्ची बस्ती व घनी आबादी के क्षेत्र में किसी भी व्यक्ति में संक्रमण हुआ तो तेजी से फैलने की आशंका होती है। वैसे अब मॉडिफाइड लॉकडाउन से कुछ फैक्ट्रियां चालू हुई हैं। जिसे देखते हुए शहर व भिवाड़ी में सर्वे किया जाने लगा है। चिकित्सा विभाग के अनुसार जिले में अब तक करीब दो बार सर्वे हो चुका है। कई संदिग्ध लोग सर्वे के जरिए ही सामने आए हैं। सर्वे में मुख्य रूप से परिवार के किसी सदस्य से यह जाना गया था कि कोई बीमार तो नहीं है।

पूरे जिले में सर्वे होगा

पूरे जिले में सर्वे होगा। लेकिन भिवाड़ी व अलवर शहर में जल्दी शुरू किया है। ताकि यहां मॉडिफाइड लॉकडाउन से कुछ हलचल बढ़ी है। जिसे देखते हुए सर्वे की जरूरत है। जिले के चारों तरफ कोरोना के हॉटस्पॉट हैं। इसलिए खतरा बरकरार है। आमजन को गाडइलाइन का पूरी तरह से पालन करने की जरूरत है।
डॉ.ओपी मीणा, सीएमएचओ अलवर

Corona virus
Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned