जिले के कोटकासिम के लोगों को सता रही यह समस्या, ग्रामीणों का फूटा आक्रोश

Prem Pathak

Publish: Jul, 14 2018 12:43:46 PM (IST)

Alwar, Rajasthan, India
जिले के कोटकासिम के लोगों को सता रही यह समस्या, ग्रामीणों का फूटा आक्रोश

गंदगी व जलभराव की समस्या से ग्रामीण त्रस्त

कोटकासिम सीनियर सेकंडरी विद्यालय के मुख्य रास्ते में पिछले काफी समय से गंदगी का ढेर लगने से आस-पास का वातावरण दूषित बना हुआ है इतना ही न हीं गंदे पानी की निकासी नहीं होने से यहां जलभराव की समस्या लोगों के लिए नासूर बन रही है। समस्या को लेकर शुक्रवार को ग्रामीण महिलाओं व स्कूली बच्चों ने मुख्य रास्ते में गंदगी के पास खड़े होकर विरोध प्रदर्शन करते हुए स्थानीय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने बताया कि एक तरफ तो सरकार द्वारा सफाई अभियान का ढिंढ़ोरा पीटा जा रहा है। दूसरी तरफ ग्रामीण क्षेत्रों में रास्तों की हालात इस कदर बिगड़ी हुई है कि जगह-जगह जलभराव की समस्या से जूझना पड़ रहा है। प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने बताया कि कस्बे के मुख्य रास्ते में पिछले काफभ् समय से आस-पास के लोगों द्वारा गंदगी डाली जा रही है। जिससे रास्ते में कूड़े के ढेर लगे हुए है। इससे गंदे पानी की निकासी नहीं हो पा रही और सारा गंदा पानी का जमावड़ा रास्ते के बीचों-बीच रहने से रास्ते से पैदल निकलना भी बंद हो गया है। हालांकि इस रास्ते पर राजकीय सीनियर सेकंडरी विद्यालय तथा नोडल केन्द्र सहित बीआरसीएफ भवन होने से आपए दिन शिक्षक प्रशिक्षण सहित बैठकों में सम्मिलित होने अधिकारी भी इसी रास्ते से गुजरते है। उसके बावजूद स्थानीय प्रशासन समस्या को लेकर गंभीर नजर नहीं आ रहा है। कच्चा रास्ता होन से कीचड़ व गहरे गड्ढे होने से आए दिन वाहन घंसते रहते है।

शिलान्यास कके बावजूद शुरू नहीं हुआ सड़क निर्माण

रास्ते में गंदगी और जलभराव से परेशान प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने बताया कि इस रास्ते के निर्माण के लिए सांसद द्वारा शिलान्यास कार्यक्रमम किया गया था। शिलान्यास के कई माह बाद भी सड़क निर्माण नहीं होने से इस रास्ते के हालात बदतर बने हुए है। खेतों से पशुओं के लिए सिर पर चारा इसी रास्ते से लाना पड़ता है। कीचड़ व गंदगी होने से कई महिलाएं फिसर कल चोटिल हो चूकी है। वहीं स्कूली बच्चे भी इसी रास्ते से गुजरते है। कीचड़ होने से आए दिन स्कूली बच्चों की पोशाक गंदी हो रही है। रास्ते की समस्या राहगीरों के लिए नासूर बनी हुई है। वहीं गंदगी के वातावरण से आस-पास का माहौल दुर्गंधयुक्त हो गया है। मच्छरों की तादाद बढ़ गई जिससे मौसमी बीमारियां होने का अंदेशा बना हुआ है। प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने जिला प्रशासन से रास्तेे में पानी की निकासी व सड़क निर्माण र्का की मांग की है। प्रदर्शन करने वालों में रमेश देवी,रतनी देवी, कृष्णा सैनी, संतोष देवी, कैलाश देवी, ममता, छोटी देवी, सुशीला देवी, सहित काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।

कोशिश जारी है
सांसद डॉ. करणसिंह यादव द्वारा मुख्य रास्ते का शिलान्यास कार्यक्रम किया गया था। सांसद कोटे से 5 लाख रूपए की राशि प्रथम किश्त के रूप में प्राप्त हो चुकी है। दूसरी किश्त आने पर ही कार्य शुरू हो पाएगा।
महावीर आचार्य, सरपंच

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned