नाम वापसी के बाद पंचायती राज चुनाव की तस्वीर आज होगी साफ

पंचायती राज चुनाव के लिए सोमवार को नाम वापसी के बाद दोपहर 3 बजे बाद तस्वीर साफ होगी। चुनाव मैदान में प्रत्याशियों की स्थिति स्पष्ट होने के बाद वार्डों में चुनावी टक्कर का पता चल सकेगा।

By: Prem Pathak

Published: 11 Oct 2021, 12:17 AM IST

अलवर. पंचायती राज चुनाव के लिए सोमवार को नाम वापसी के बाद दोपहर 3 बजे बाद तस्वीर साफ होगी। चुनाव मैदान में प्रत्याशियों की स्थिति स्पष्ट होने के बाद वार्डों में चुनावी टक्कर का पता चल सकेगा। इससे पहले वार्डों में प्रत्याशी अपनी चुनावी राह आसान करने के लिए रविवार को अन्य प्रत्याशियों को समर्थन में बिठाने के लिए मान मनुहार में जुट गए। वहीं राजनीतिक पार्टियों के प्रमुख नेताओं ने टिकट नहीं मिलने पर बगावत कर चुनाव मैदान में उतरने वाले प्रत्याशियों की मान मनुहार शुरू कर दी है।

जिला परिषद सदस्य व पंचायत समिति सदस्यों के लिए प्रत्याशी सोमवार दोपहर 3 बजे नामांकन वापस ले सकते हैं। इसके तुरंत बाद शेष बचे उम्मीदवारों को चुनाव चिह्नों का आवंटन किया जाएगा। नामांकन वापसी की समय सीमा नजदीक आने के साथ ही बगावत कर चुनाव मैदान में डटे प्रत्याशियों की मान मनोव्वल बढ़ गई है। वार्डों में राजनीति पार्टियों के प्रत्याशी टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों को पार्टी की रीति नीति एवं व्यक्तिगत सम्बन्धों की दुहाई देकर नाम वापसी के लिए मनाने में जुटे हैं। इसके लिए उन्हें तरह- तरह के प्रलोभन भी दिए जा रहे हैं।

गांवों में जमने लगी चौपाल

पंचायती राज चुनाव को लेकर अब ग्रामीण क्षेत्र की राजनीति उबाल खाने लगी है। गांवों में चौपालों पर प्रत्याशियों को लेकर चर्चा होने लगी है। चौपालों पर प्रत्याशियों को समर्थन देने, प्रत्याशियों को चुनाव मैदान से हटने तथा दवाब व मान मनुहार होने लगी है। सुबह से शाम तक गांवों में चर्चाओं के दौर दिखाई पड़ते हैं।

राजनीतिक पार्टियों की सक्रियता बढ़ी

जिला परिषद एवं पंचायत समिति चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों की सक्रियता बढ़ गई है। कांग्रेस व भाजपा के प्रमुख नेता पार्टी प्रत्याशियों के समर्थन में निर्दलीय उम्मीदवारों व बागी प्रत्याशियों को मनाने में जुटे रहे। कांग्रेस के नेताओं ने अनेक निर्दलीय व बागियों से रविवार को सम्पर्क भी साधा है। वहीं भाजपा के नेता व प्रत्याशी भी निर्दलीय व बागी प्रत्याशियों को मनाने में जुट गए हैं।

अन्य दलों से टिकट लेने वालों ने बढ़ाई परेशानी

पंचायती राज चुनाव में कांग्रेस व भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर कई प्रत्याशियों ने जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्य चुनाव में बसपा व अन्य दलों का दामन थाम लिया हैं। अब अन्य दलों के चुनाव लडऩे के कारण ऐसे प्रत्याशियों को चुनाव मैदान से हटा पाना प्रमुख पार्टियों के लिए परेशानी का कारण बन गया है।

बागियों से सम्पर्क साध रहे

भाजपा के कुछ कार्यकर्ता जो टिकट नहीं मिल पाने से निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरे हैं, पार्टी की ओर से उनसे सम्पर्क साधा जा रहा है। सोमवार को ऐसे निर्दलीय प्रत्याशियों को मना कर बिठा लिया जाएगा।

मदन दिलावर

जिला प्रभारी भाजपा, पंचायती राज चुनाव

ज्यादातर कार्यकर्ताओं को मना लेंगे

कांग्रेस के कार्यकर्ता कर्मठ हैं, टिकट नहीं मिलने के कारण जिन्होंने निर्दलीय नामांकन भर दिया है, उन्हें समझाकर चुनाव मैदान से हटने को राजी किया जा रहा है। सोमवार तक ज्यादातर कार्यकर्ता पार्टी हित में नाम वापस ले लेंगे।

टीकाराम जूली

जिलाध्यक्ष कांग्रेस, श्रम राज्य मंत्री

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned