बच्ची की मौत के बाद कार्रवाई से डॉक्टर आक्रोशित, दो घंटे काम नहीं करेंगे

अलवर.

जिले के शिशु अस्पताल के एफबीएनसी वार्ड में नवजात की झुलसने से मौत के मामले में चिकित्सक व नर्सिंग स्टाफ के निलम्बन का विरोध और तेज हो गया है। चिकित्सक व नर्सिगकर्मियों ने जिला कलक्टर को ज्ञापन देकर शनिवार से पूरे जिले में दो घंटे कार्य बहिष्कार करने की चेतावनी दी है। इसके बाद भी काली पट्टी बांध कर ही कार्य करेंगे।

By: Prem Pathak

Published: 03 Jan 2020, 11:12 PM IST


अलवर.

जिले के शिशु अस्पताल के एफबीएनसी वार्ड में नवजात की झुलसने से मौत के मामले में चिकित्सक व नर्सिंग स्टाफ के निलम्बन का विरोध और तेज हो गया है। चिकित्सक व नर्सिगकर्मियों ने जिला कलक्टर को ज्ञापन देकर शनिवार से पूरे जिले में दो घंटे कार्य बहिष्कार करने की चेतावनी दी है। इसके बाद भी काली पट्टी बांध कर ही कार्य करेंगे।

पहले दिन अलवर जिला मुख्यालय के तीनों बड़े अस्पताल व स्वास्थ्य केन्द्रों पर सुबह 9 से 11 बजे कार्य का बहिष्कार किया गया। जिसके कारण काफी मरीज व उनके परिजनों को भटकना पड़ा। इन अस्पतालों में आपातकालीन सेवाएं चालू रही, लेकिन चिकित्सक व नर्सिंग स्टाफ के नहीं होने के कारण काफी मरीज निराश लौटे। कुछ मरीजों को पुलिसकर्मी लेकर आए। उनको भी 11 बजे बाद ही चिकित्सकों ने संभाला। हालांकि इमरजेंसी में व्यवस्थाएं चालू रखी। जिसके कारण विशेष परिस्थिति वाले मरीजों को परेशानी नहीं हुई। अब जिले भर में चिकित्सक व नर्सिंगकर्मी दो घंटे कार्य नहीं करेंगे, जिसके कारण शनिवार से जिलेभर में सैकड़ों मरीजों को परेशानी होना तय है।

एडीएम करेंगे जांच

चिकित्सक व नर्सिंगकर्मियों ने जिला कलक्टर को ज्ञापन देकर जांच की मांग की है। इस पर एडीएम को जांच अधिकारी लगाया है, जो पूरे घटनाक्रम की जानकारी करेंगे। कर्मचारी व डॉक्टरों के बयान भी लेंगे। लेकिन, निलम्बन किए गए स्टाफ को रिलीव किया जा चुका है। उनकी बहाली की मांग को लेकर अब आंदोलन जारी है। अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सा संघ अलवर के अध्यक्ष डॉ. मोहन लाल सिंधी व नर्सिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष पुष्पराज ने कहा कि तकनीकी खराबी के कारण नवजात झुलसी है, जिसका दुख सबको है। चिकित्सक व नर्सिंग स्टाफ को निलम्बन करना उचित नहीं है। उल्लेखनीय है कि नवजात की मौत के मामले में दो चिकित्सक व तीन नर्सिंग स्टाफ को निलम्बित किया गया है। इनके अलावा दो संविदाकर्मियों को बर्खास्त किया है।

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned