scriptalwar letest news | दिवाली पर अलवर को मिला मेडिकल कॉलेज की डीपीआर मंजूरी का तोहफा | Patrika News

दिवाली पर अलवर को मिला मेडिकल कॉलेज की डीपीआर मंजूरी का तोहफा

दिवाली पर अलवर को मेडिकल कॉलेज भवन निर्माण की डीपीआर मंजूरी का तोहफा मिला है। डीपीआर बनने के बाद जेल परिसर में मेडिकल कॉलेज भवन निर्माण की राह आसान हुई है। डीपीआर को हरी झंडी मिलने के बाद जल्द ही भवन निर्माण के लिए निविदा प्रक्रिया शुरू होने की उम्मीद है।

अलवर

Published: November 04, 2021 12:45:33 am

अलवर. दिवाली पर अलवर को मेडिकल कॉलेज भवन निर्माण की डीपीआर मंजूरी का तोहफा मिला है। डीपीआर बनने के बाद जेल परिसर में मेडिकल कॉलेज भवन निर्माण की राह आसान हुई है। डीपीआर को हरी झंडी मिलने के बाद जल्द ही भवन निर्माण के लिए निविदा प्रक्रिया शुरू होने की उम्मीद है। संभावना है कि इस साल के अंत या नए वर्ष के शुरू में मेडिकल कॉलेज की नींव लगेगी। अब अलवर जिला प्रदेश का पहला जिला होगा, जहां दो मेडिकल कॉलेजों का संचालन होगा।
दिवाली पर अलवर को मिला मेडिकल कॉलेज की डीपीआर मंजूरी का तोहफा
दिवाली पर अलवर को मिला मेडिकल कॉलेज की डीपीआर मंजूरी का तोहफा
जिला मुख्यालय अलवर स्थित जेल परिसर पर 49165 वर्ग मीटर क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज भवन का निर्माण होना है। इसकी डीपीआर मंजूर हो चुकी है। यह मेडिकल कॉलेज भवन फिलहाल पांच मंजिला होगा। मेडिकल भवन निर्माण के दो फेज होंगे। प्रथम चरण में फेज प्रथम का निर्माण कार्य होगा तथा दूसरे फेज का निर्माण कार्य द्वितीय चरण में होगा।
यह होगा मेडिकल कॉलेज भवन का स्वरूप

जेल परिसर में प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज भवन में प्रथम फेज में 17040 वर्ग मीटर में तीन मंजिला एकेडमिक ब्लॉक, 5415 वर्ग मीटर में पांच मंजिला बॉयज हॉॅस्टल, 1450 वर्ग मीटर में 6 वीं व 7 वीं मंजिल पर इंटर्न बॉयज हॉस्टल, 5415 वर्ग मीटर में पांच मंजिला गल्र्स हॉस्टल, 1450 वर्ग मीटर में 6 वीं व 7 वीं मंजिल पर इंटर्न गल्र्स हॉस्टल, 1870 वर्ग मीटर क्षेत्र में प्रथम मंजिल पर मेस ब्लॉक, 370 वर्ग मीटर में प्रथम मंजिल पर प्रिंसिपल आवास, 4800 वर्ग मीटर में पांच मंजिला टीचिंग स्टाफ क्वार्टर, 2400 वर्ग मीटर में तीन मंजिला नॉन टीचिंग स्टाफ क्वार्टर, 450 वर्ग मीटर में दो मंजिला चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के आवास, 700 वर्ग मीटर में भूमि तल पर इंडोर स्पोर्ट कॉम्प्लेक्स, 850 वर्ग मीटर में भूमि तल पर ओपन एयर थियेटर, 60 वर्ग मीटर में भूमि तल पर एनीमल होल्ड रूम, 900 वर्ग मीटर में भूमि तल पर इएसएस एण्ड अन्य सर्विसेज, 1250 वर्ग मीटर में प्रथम तल पर नर्सेज हॉस्टल, 4025 वर्ग मीटर में आवासीय हॉस्टल, 250 वर्ग मीटर में वर्टिकल एक्सपेंशन में लेक्चर थियेटर तथा 470 वर्ग मीटर में भूमि तल पर ही ऑटोप्सी ब्लॉक का निर्माण कराया जाएगा।
दूसरे फेज में यह होगा निर्माण कार्य

दूसरे फेज में 8800 वर्ग मीटर में हॉस्पिटल ब्लॉक, 180 वर्ग मीटर में गैस मेनफोल्ड, 430 वर्ग मीटर में लॉऊड्री, 570 वर्ग मीटर में किचन, 200 वर्ग मीटर में इएसएस एवं 250 वर्ग में बायो मेडिकल का निर्माण कराया जाएगा। मेडिकल कॉलेज भवन के दूसरे फेज में 10430 वर्ग मीटर क्षेत्र में सुविधाओं का विस्तार मौजूदा हॉस्पिटल में कराया जाएगा। मेडिकल कॉलेज के लिए एसटीपी प्लांट, आरओ प्लांट, कंप्यूटर सर्वर रूम सहित अन्य जरूरत के उपकरण भी उपलब्ध कराए जाएंगे।
जिले में दो मेडिकल कॉलेज होंगे

जेल परिसर में प्रस्वावित मेडिकल कॉलेज भवन की डीपीआर को मंजूरी मिलने पर अलवर जिला प्रदेश में पहला जिला होगा, जहां दो सरकारी मेडिकल कॉलेज होंगे। अलवर के एमआइए क्षेत्र में इएसआइसी मेडिकल कॉलेज इसी साल से शुरू हो रहा है। वहीं योजना अनुसार सब ठीक रहा तो साल 2022- 23 से जेल परिसर स्थित प्रदेश सरकार का मेडिकल कॉलेज भी शुरू हो जाएगा। अलवर में मेडिकल कॉलेज 7 सालों से अटका हुआ था। अलवर के साथ व बाद में प्रदेश सरकार ने जिन जिलों में मेडिकल कॉलेज की घोषणा की थी, उनमें से ज्यादातर जिलों में मेडिकल कॉलेज शुरू हो चुका है।
मेडिकल कॉलेज के लिए बजट पहले ही स्वीकृत

अलवर मेडिकल कॉलेज के लिए 325 करोड रुपए का बजट पहले ही मंजूर हो चुका है। इसमें 195 करोड़ रुपए केंद्र सरकार ने मुहैया कराए हैं, वहीं 130 करोड़ रुपए राज्य सरकार की ओर से उपलब्ध कराए गए हैं। इसमें प्रथम फेज में 148.22 करोड़ रुपए और द्वितीय फेज में 80 करोड़ रुपए लागत का निर्माण कार्य कराया जाएगा। नोएडा की कंपनी को मेडिकल कॉलेज भवन बनाने की जिम्मेदारी दी गई है।
एक महीने में निविदा प्रक्रिया पूरी होने की उम्मीद

नवम्बर माह के अंत तक मेडिकल कॉलेज निर्माण भवन की निविदा प्रक्रिया पूरी होने तथा आगामी एक महीने में कार्यादेश जारी कराने के प्रयास रहेंगे। संभावना है कि नए साल में मेडिकल कॉलेज भवन का निर्माण कार्य प्रगति पर रहेगा। नर्सेज हॉस्टल व रेजिडेंट हॉस्टल का निर्माण सामान्य अस्पताल परिसर में होगा, इसके लिए वहां बने पुराने क्वार्टरों को हटाया जाएगा। अस्पताल प्रशासन ने उन क्वार्टरों में रहने वाले डॉक्टर व नर्सेज आदि को एक महीने में क्वार्टर खाली करने के नोटिस दिए गए हैं।
डॉ. सुनील चौहान

पीएमओ, सामान्य चिकित्सालय अलवर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगापूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.