scriptalwar letest news | कोरोनाकाल में ऑक्सीजन की मारामारी से निपटने को दी राशि, अब तक नहीं हो सका उपयोग | Patrika News

कोरोनाकाल में ऑक्सीजन की मारामारी से निपटने को दी राशि, अब तक नहीं हो सका उपयोग

सरकारी लेटलतीफी न केवल मरीजों को भारी पड़ सकती है, बल्कि खुद सरकार को भी नुकसानदेह साबित हो रही है। कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की मारामारी के दौरान राजकीय महिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए 70 लाख तथा सामान्य अस्पताल में ऑक्सीजन के 100 सिलेंडर खरीद के लिए 14.50 की राशि दी, कोरोना की दूसरी लहर खत्म होने के बाद तीसरी लहर की तैयारी होने तक भी न तो ऑक्सीजन प्लांट लग सका और न ही ऑक्सीजन सिलेंडर की खरीद हो पाई। इतना ही नहीं ऑक्सीजन प्लांट की लागत बढकऱ एक करोड़ रुपए पहुंच गई।

अलवर

Published: December 18, 2021 11:34:00 pm

अलवर. सरकारी लेटलतीफी न केवल मरीजों को भारी पड़ सकती है, बल्कि खुद सरकार को भी नुकसानदेह साबित हो रही है। कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की मारामारी के दौरान राजकीय महिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए 70 लाख तथा सामान्य अस्पताल में ऑक्सीजन के 100 सिलेंडर खरीद के लिए 14.50 की राशि दी, कोरोना की दूसरी लहर खत्म होने के बाद तीसरी लहर की तैयारी होने तक भी न तो ऑक्सीजन प्लांट लग सका और न ही ऑक्सीजन सिलेंडर की खरीद हो पाई। इतना ही नहीं ऑक्सीजन प्लांट की लागत बढकऱ एक करोड़ रुपए पहुंच गई।
कोरोनाकाल में ऑक्सीजन की मारामारी से निपटने को दी राशि, अब तक नहीं हो सका उपयोग
कोरोनाकाल में ऑक्सीजन की मारामारी से निपटने को दी राशि, अब तक नहीं हो सका उपयोग
कोरोनाकाल के दौरान कोरोना संक्रमितों को आसानी से ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए शहर विधायक संजय शर्मा ने विधायक कोटे से शहर के राजकीय महिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने के लिए 70 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की थी। उस दौरान महिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित नहीं हो पाया, जिसके कारण उसकी लागत बढ़ गई। राशि की कमी से ऑक्सीजन प्लांट नहीं लग पाने के कारण शहर विधायक शर्मा ने पिछले दिनों दोबारा ऑक्सीजन प्लांट के लिए एक करोड़ की राशि स्वीकृत की है।
एक साल बाद लौटाई 70 लाख की राशि

राजकीय महिला चिकित्सालय अलवर में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट (500 एलपीएम) लगाने के लिए करीब सात महीने पहले शहर विधायक संजय शर्मा ने 70 लाख रुपए की राशि विधायक कोटे से स्वीकृत की थी। इस कार्य के लिए कार्यकारी एजेंसी प्रमुख चिकित्सा अधिकारी अलवर को बनाया गया। एक साल के दौरान यह ऑक्सीजन प्लांट चिकित्सालय में नहीं लग पाया। पूर्व में जारी राशि 70 लाख रुपए में ऑक्सीजन प्लांट नहीं लग पाने के कारण कार्यकारी एजेंसी ने 70 लाख रुपए राशि का चेक वापस जिला परिषद को लौटा दिया।
अब एक करोड़ की राशि स्वीकृत की

राजकीय महिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने के लिए शहर विधायक शर्मा ने जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को पत्र भेजकर पूर्व में जारी स्वीकृति को निरस्त करने की अनुशंसा के साथ ऑक्सीजन प्लांट के लिए एक करोड़ की राशि स्वीकृत करने की अनुशंसा की है।
ऑक्सीजन सिलेंडर अभी तक नहीं आए

कोरोनाकाल में संक्रमण का जोर होने और मरीजों को ऑक्सीजन की आवश्यकता ज्यादा होने पर स्वास्थ्य विभाग की मांग पर शहर विधायक ने सामान्य चिकित्सालय के लिए 100 ऑक्सीजन सिलेंडर खरीद के लिए गत 21 अप्रेल को 14.50 लाख की राशि विधायक कोटे से स्वीकृत की, जिला परिषद की ओर से इस कार्य के लिए प्रशासनिक स्वीकृति भी जारी कर दी। राशि जारी किए करीब 8 महीने का समय बीत गया, लेकिन अब तक ऑक्सीजन सिलेंडर की खरीद नहीं प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है। ऑक्सीजन सिलेंडर खरीद के लिए पूर्व में राशि कम बताई गई, लेकिन शहर विधायक की ओर से इस सम्बन्ध में जानकारी मांगने पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से आरएमएससीएल एजेंसी से सिलेंडर खरीद का ऑर्डर दिया गया, लेकिन वहां से भी अब तक ऑक्सीजन सिलेंडर सामान्य अस्पताल नहीं पहुंच पाए हैं।
जितनी राशि की मांग की, उतनी राशि स्वीकृत की

कोरोनाकाल में ऑक्सीजन की जरूरत को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की ओर से ऑक्सीजन प्लांट के लिए 70 लाख रुपए की मांग की गई, जिसकी स्वीकृति उसी समय जारी कर दी गई। स्वास्थ्य विभाग की ओर से उस समय प्लांट नहीं लगाया और पिछले दिनों यह राशि कम बताते हुए जिला परिषद को 70 लाख राशि का चेक वापस भिजवा दिया। ऑक्सीजन प्लांट के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से अब एक करोड़ राशि की जरूरत बताई गई है, वह भी मंजूर कर दी गई है। वहीं ऑक्सीजन सिलेंडर की जितनी राशि मांगी थी, उतनी स्वीकृत कर दी, लेकिन अभी तक ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं आए हैं।
संजय शर्मा

शहर विधायक अलवर

ऑक्सीजन सिलेंडर जल्द आएंगे

ऑक्सीजन सिलेंडर की खरीद के लिए राशि आरएमएससीएल को भेज दी थी, मांग ज्यादा होने से वहां से सिलेंडर नहीं मिल सके। दो दिन पहले ही एक कर्मचारी को वहां भेजकर प्रकरण दिखवाया गया है, वहां से जल्द ही ऑक्सीजन सिलेंडर मिलेंगे। वहीं ऑक्सीजन प्लांट के लिए एक करोड़ की राशि जारी होने का पत्र अभी नहीं मिला है, राशि मिलते ही जल्द ही प्लांट स्थापित किया जाएगा।
डॉ. सुनील चौहान

प्रमुख चिकित्सा अधिकारी, सामान्य अस्पताल अलवर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.