scriptalwar letest news | लीनियर थैरेपी कक्ष का एस्टीमेट तैयार, स्वीकृति का इंतजार | Patrika News

लीनियर थैरेपी कक्ष का एस्टीमेट तैयार, स्वीकृति का इंतजार

शहर के जिला अस्पताल में लीनियर थैरेपी की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए अस्पताल प्रशासन ने प्रयास तेज कर दिए हैं। पिछले दिनों नवीन आइसीयू के उद्घाटन अवसर पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह एवं केबिनेट मंत्री टीकाराम जूली व शकुंतला रावत की मौजूदगी में अलवर में लीनियर थैरेपी सुविधा की जरूरत बताई गई थी।

अलवर

Published: December 18, 2021 11:49:20 pm

अलवर. शहर के जिला अस्पताल में लीनियर थैरेपी की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए अस्पताल प्रशासन ने प्रयास तेज कर दिए हैं। पिछले दिनों नवीन आइसीयू के उद्घाटन अवसर पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह एवं केबिनेट मंत्री टीकाराम जूली व शकुंतला रावत की मौजूदगी में अलवर में लीनियर थैरेपी सुविधा की जरूरत बताई गई थी। इस पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री सिंह ने अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी से जल्द एस्टीमेट तैयार कराने को कहा था।
लीनियर थैरेपी कक्ष का एस्टीमेट तैयार, स्वीकृति का इंतजार
लीनियर थैरेपी कक्ष का एस्टीमेट तैयार, स्वीकृति का इंतजार
जिला अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुनील चौहान ने बताया कि लीनियर थैरेपी सुरक्षित थैरेपी सुविधा है। अभी यह सुविधा प्रदेश में केवल जयपुर स्थित महात्मा गांधी अस्पताल एवं बीकानेर मेडिकल कॉलेज में ही उपलब्ध है। मेडिकल कॉलेज स्तर की यह थैरेपी अलवर में जल्द शुरू करने की जरूरत है। इसके लिए सामान्य अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड के पास बेसमेंट में लीनियर थैरेपी कक्ष निर्माण के लिए एस्टीमेट तैयार कराया गया है। एस्टीमेट के अनुसार लीनियर थैरेपी कक्ष के निर्माण पर 1.36 करोड़ रुपए की लागत आएगी। लीनियर थैरेपी कक्ष का निर्माण बेसमेंट में करना आवश्यक होता है और यह कक्ष विशेष प्रकार का होता है। इस कक्ष के निर्माण के लिए 300 वर्ग मीटर भूमि की जरूरत होती है। इस कक्ष का नक्शा तैयार करा लिया गया है। इसकी दीवारों की मोटाई ज्यादा होती है। वहीं लीनियर थैरेपी के लिए 20-25 करोड़ लागत की मशीनें अलग से आएंगी।
सुरक्षित है लीनियर थैरेपी

लीनियर थैरेपी रेडिया व अन्य थैरेपी से काफी सुरक्षित है। इसका कारण है कि लीनियर थैरेपी उसी स्थान पर की जाती है, जहां मरीज के लिए थैरेपी करना जरूरी होता है। इस थैरेपी का रेडिएशन शहरी के अन्य भाग को प्रभावित नहीं करता है। जबकि रेडियो थैरेपी में रेडियेएशन जरूरत के स्थान के आसपास के भाग को भी प्रभावित करता है।
स्वीकृति के लिए उच्च स्तरीय प्रयास जरूरी

अलवर में लीनियर थैरेपी सुविधा की स्वीकृति के लिए सरकार स्तर पर उच्च स्तरीय प्रयास जरूरी हैं। अलवर जिले से दो कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हैं। यदि राज्य सरकार स्तर पर सामूहिक प्रयास किए जाएं तो यह सुविधा अलवर में जल्द शुरू हो सकती है। वहीं केन्द्र सरकार स्तर पर सांसद को प्रयास भी जरूरी हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

हार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैंधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजप्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टEye Donation- बेटी को जन्म दे, चल बसी मां, लेकिन जाते-जाते दो नेत्रहीनों को दे गई रोशनीयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता बने PM Modi, ग्लोबल सर्वे में बाइडेन और ट्रूडो जैसे दिग्गजों को पछाड़ाCorona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरदिल्ली में घटते कोरोना मामलों के बीच वीकेंड कर्फ्यू हटाने का फैसला, CM अरविन्द केजरीवाल ने उपराज्यपाल को भेजा पत्र50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup: टीम इंडिया का पूरा शेड्यूल, जानें कब और किस टीम से होगा मुकाबलाआखिर करहल विधानसभा सीट से ही क्यों चुनाव लड़ना चाहते हैं अखिलेश यादवUP Election 2022: राहलु और प्रियंका ने जारी किया कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं पर फोकसइंडिया गेट पर लगेगी नेता जी की मूर्ति, पीएम मोदी ने ट्वीट की तस्वीर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.