scriptalwar letest news | अब अलवर शहर में दो, कस्बों में तीन व गांवों में 6 घंटे बिजली कटौती | Patrika News

अब अलवर शहर में दो, कस्बों में तीन व गांवों में 6 घंटे बिजली कटौती

सूर्य के तेवर तीखे होने से अप्रेल माह में ही अलवर जिले में पारा 43 डिग्री के पार पहुंचने लगा है। गर्मी बढ़ने का असर यह हुआ कि जिले में इन दिनों 20 फीसदी बढ़ गई है। लेकिन सरकार की ओर से मांग के अनुरूप बिजली नहीं मिलने से अब जिला मुख्यालय अलवर पर दो घंटे, कस्बों में तीन घंटे तथा गांवों में छह घंटे से ज्यादा बिजली कटौती करनी पड़ रही है।

अलवर

Published: April 27, 2022 11:15:52 pm

अलवर. सूर्य के तेवर तीखे होने से अप्रेल माह में ही अलवर जिले में पारा 43 डिग्री के पार पहुंचने लगा है। गर्मी बढ़ने का असर यह हुआ कि जिले में इन दिनों 20 फीसदी बढ़ गई है। लेकिन सरकार की ओर से मांग के अनुरूप बिजली नहीं मिलने से अब जिला मुख्यालय अलवर पर दो घंटे, कस्बों में तीन घंटे तथा गांवों में छह घंटे से ज्यादा बिजली कटौती करनी पड़ रही है।
अब अलवर शहर में दो, कस्बों में तीन व गांवों में 6 घंटे बिजली कटौती
अब अलवर शहर में दो, कस्बों में तीन व गांवों में 6 घंटे बिजली कटौती
अलवर जिले में सामान्य: बिजली की मांग 300 मेगावाट है। गर्मी के दिनों में बिजली की मांग बढ़ जाती है। इन दिनों जिले में 20 प्रतिशत से ज्यादा अतिरिक्त बिजली की मांग है। यानि हर दिन अलवर जिले में 360 मेगावाट से ज्यादा बिजली की जरूरत है, लेकिन जिले को बढ़ी मांग अनुरूप बिजली मिलना तो दूर, सामान्य मांग की बिजली भी नहीं उपलब्ध नहीं हो पा रही है। बिजली निगम उपलब्ध बिजली में से ही सभी को बिजली मुहैया करा संकट को कम करने में जुटा है।
जिला मुख्यालय भी कटौती की चपेट में, कस्बे व गांव भी अछूते नहीं

बिजली संकट के दौर में अब जिला मुख्यालय पर सुबह 6.30 से 9.30 तक बिजली कटौती होगी। वहीं कस्बों में तीन घंटे सुबह 6 से 9 बजे तक बिजली कटौती की जा रही है। कस्बों में काटी गई बिजली को गांवों में देकर वहां की समस्या को कुछ हद तक कम करने के प्रयास किए जा रहे हैं। जबकि गांवों में पहले ही छह घंटे या इससे ज्यादा बिजली कटौती हो रही है। वहीं औद्योगिक क्षेत्रों में शाम 6 से रात 10 बजे तक बिजली कटौती रहेगी।
निचले स्तर के कर्मचारी नहीं दे सकेंगे कटौती की जानकारी

प्रदेश में बढ़ते बिजली संकट के दौर में अफवाहों से बचने के लिए सरकार ने विद्युत निगम के निचले स्तर के कर्मचारियों को बिजली कटौती सम्बन्धी जानकारी देने पर पाबंदी लगा दी है। पिछले दिनों बिजली निगम के अभियंताओं की वीसी में निगम के प्रबंध निदेशक ने निर्देश दिए कि बिजली कटौती की जानकारी जिला स्तर पर अधीक्षण अभियंता ही देंगे। निचले स्तर के बिजली कर्मी बिजली कटौती की जानकारी नहीं दे सकेंगे।
गर्मी में बिजली की मांग बढ़ी

गर्मी में बिजली कटौती की मांग बढ़ी है, लेकिन उपब्धता में कमी है। इस कारण बिजली कटौती करनी पड़ रही है।

जेएल मीणा

अधीक्षण अभियंता, बिजली निगम अलवर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: शिवसेना को एकनाथ शिंदे ने फिर दिया बड़ा झटका, विधानसभा स्पीकर चुनाव में बीजेपी उम्मीदवार राहुल नार्वेकर जीतेवायरल फोटो के बाद गहलोत के मंत्रियों के निशाने पर कटारिया, भाजपा से माफी की मांगआप नेता अग्निपथ योजना के खिलाफ 'प्रतीकात्मक विरोध' के रूप में प्रधानमंत्री मोदी को भेजेंगे 420 रुपएENG vs IND: टेस्ट में ब्लू कैप पहनकर उतरे क्रिकेटेर्स, दिलचस्प है इसके पीछे की वजहMaharashtra Assembly Speaker Election: महाराष्ट्र में विधानसभा स्पीकर का चुनाव आज, भाजपा और महा विकास अघाड़ी के बीच सीधी टक्करमस्क-बेजोस सहित कई अरबपतियों की दौलत में भारी गिरावट, जुकरबर्ग की संपत्ति हुई आधीबिहार में पैसेंजर ट्रेन के इंजन में लगी आग, रक्सौल से नरकटियागंज जा रही थी रेलगाड़ीराहुल गांधी के बयान को उदयपुर की घटना से जोड़ा, जयपुर में रिपोर्ट दर्ज
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.