बिना विकास की राजनीति का दंगल बना अलवर नगर परिषद्, विकास की चिंता नहीं, कुर्सी बचाने में लगे जिम्मेदार

अलवर नगर परिषद् राजनीती का अखाड़ा बन गया है यहां विकास कार्य रुक गए हैं जिम्मेदार सिर्फ अपनी कुर्सी बचाने में लगे हैं

By: Lubhavan

Published: 16 Sep 2020, 12:01 PM IST

अलवर. अलवर नगर परिषद बोर्ड पिछले साढ़े नौ माह से बिना विकास की राजनीति का दंगल बना हुआ है। किसी को शहर के विकास की चिंता नहीं है। सब अपनी कुर्सी बचाने और दूसरे की गिराने में लगे हैं। वहीं, भ्रष्टाचार की कलई भी खूब खुलकर सामने आ रही हैं।

अलवर शहर से लेकर प्रदेश तक कांग्रेस की सरकार है। नवम्बर 2019 में अलवर नगर परिषद में कांग्रेस का बोर्ड बना। करीब डेढ़ दशक बाद बने कांग्रेस के बोर्ड से शहर में विकास की काफी उम्मीदें थी, लेकिन इस बोर्ड में हालात यह है कि अलवर नगर परिषद में जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों की धड़े बन गए हैं और उनमें आपसी में जबरदस्त ठनी हुई हैं। शहर के विकास के मुद्दे पर इस बोर्ड में जनप्रतिनिधि और अधिकारियों की एक भी बैठक नहीं हुई है, लेकिन एक-दूसरे के खिलाफ साजिश को लेकर नगर परिषद में रोजाना किसी न किसी कमरे में लम्बी बैठक चलती है। नगर परिषद में दिनभर किसी अधिकारी को पद से हटाने और किसी को पद लगाने की व्यह रचना रची जाती है। पिछले काफी समय से सभापति की कुर्सी को लेकर भी घमासान मचा हुआ है। जनप्रतिनिधि और अधिकारियों की इस लड़ाई में शहर के विकास पर किसी का ध्यान नहीं है।
विकास के मुद्दे गौण

अलवर शहर में विकास के मुद्दे गौण है। शहर में कई हजार रोडलाइटें खराब पड़ी है। सडक़ों की हालत खस्ता बनी हुई है। बदहाल सफाई व्यवस्था के कारण शहर में जगह-जगह कचरे के ढेर लगे रहते हैं। बाजारों में लावारिस पशुओं का जमावड़ा रहता है। अवैध फ्लेक्स, होर्डिंग और पम्पलेट्स से दीवारें और रोड बदरंग हो रहे हैं। अतिक्रमण और बेतरतीब पार्किंग ने शहर की सूरत बिगाड़ दी है। गंदगी और कीचड़ से अटे पड़े नालों के संक्रमण और हादसों का खतरा बना हुआ है। शहर में चारों तरफ समस्याओं के निराकरण और विकास की दरकार है, लेकिन ये सभी मुद्दे शहर की सरकार में गौण हैं।
नई एनआईटी लगाएंगे

कोरोना के चलते बोर्ड की बैठक नहीं हो पाई है, लेकिन शहर में विकास कार्य कराए जा रहे हैं। शहर से लावारिस पशुओं को पकड़ा जा रहा है। साफ-सफाई पर भी पूरा ध्यान दिया जा रहा है। जल्द ही नई एनआईटी लगाकर और विकास कार्य कराए जाएंगे।
- बीना गुप्ता, सभापति, नगर परिषद, अलवर।

Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned