पंचायत चुनाव के प्रथम चरण की अधिसूचना आज होगी जारी

पंचायती राज संस्थाओं के प्रथम चरण के चुनाव की अधिसूचना मंगलवार को जारी होगी। इसके साथ ही जिले में पंचायत चुनाव की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी। प्रथम चरण में ग्राम पंचायतों में होने वाले सरपंच पद के चुनाव के लिए सम्बन्धित ग्राम पंचायतों में 8 जनवरी को सुबह 10.30 से शम 4.30 बजे नामांकन किए जा सकेंगे।

By: Prem Pathak

Published: 06 Jan 2020, 11:57 PM IST


अलवर. पंचायती राज संस्थाओं के प्रथम चरण के चुनाव की अधिसूचना मंगलवार को जारी होगी। इसके साथ ही जिले में पंचायत चुनाव की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी। प्रथम चरण में ग्राम पंचायतों में होने वाले सरपंच पद के चुनाव के लिए सम्बन्धित ग्राम पंचायतों में 8 जनवरी को सुबह 10.30 से शम 4.30 बजे नामांकन किए जा सकेंगे। नामांकन पत्रों की जांच 9 जनवरी को सुबह 10.30 बजे से होगी। वहीं इसी दिन दोपहर 3.30 बजे तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। नाम वापसी का समय खत्म होने क बाद चुनाव चिह्नों का आवंटन तथा चुनाव लडऩे वाले अभ्यर्थियों की सूची का प्रकाशन किया जाएगा। पहले चरण का मतदान 17 जनवरी को सुबह 8 से शाम 5 बजे तक होगा। मतदान समाप्त होने के बाद पंचायत मुख्यालय पर मतगणना कर चुनाव परिणाम घोषित किया जाएगा। वहीं उप सरपंच का चुनाव 18 जनवरी को कराया जाएगा।

पहले चरण में 191 ग्राम पंचायतों में होंगे चुनाव

पहले चरण में जिले की पंाच पंचायत समितियों में 191 ग्राम पंचायत व 2 हजार 189 वार्ड पंच के चुनाव 17 जनवरी को होंगे। पहले चरण में अलवर जिले में नीमराणा में 29 ग्राम पंचायत (वार्ड पंच 329), तिजारा में 47 ग्राम पंचायत (वार्ड पंच 531), रैणी में 26 ग्राम पंचायत (वार्ड पंच 318), कठूमर में 47 ग्राम पंचायत (वार्ड पंच 535), बानसूर में 42 ग्राम पंचायतों (वार्ड पंच 476) के चुनाव होंगे।

सरपंच के चुनाव में 50 हजार रुपए तक कर सकेंगे खर्च

पंचायत राज चुनाव के लिए जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य एवं सरपंच पद का चुनाव लडने वाले अभ्यर्थियों के लिए चुनाव प्रचार के व्यय की अधिकतम सीमा निर्धारित की गई है।
निर्वाचन व्यय नियंत्रण प्रकोष्ठ प्रभारी अधिकारी ने बताया कि जिला परिषद सदस्य के लिए एक लाख 50 हजार रुपए, पंचायत समिति सदस्य के लिए 75 हजार रुपए व सरपंच पद के लिए 50 हजार रुपए अधिकतम खर्च सीमा निर्धारित की गई है। उन्होंने बताया कि अधिकतम चुनाव खर्च की सीमा से अधिक खर्च करना आदेशों का उल्लंघन होगा, जिसके लिए राजस्थान पंचायत राज अधिनियम 1994 की धारा 22 ‘क’ में अंकित प्रावधान के तहत कार्रवाई की जाएगी।

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned