लॉक डाउन के समय जरूरतमंदों की लगातार मदद कर रहा अलवर, प्रतिदिन घर-घर जाकर बाँट रहे खाना व नाश्ता

लॉक डाउन के समय जरूरतमंदों की लगातार मदद कर रहा अलवर, प्रतिदिन हजारों लोगों के लिए बन रहा खाना व् नाश्ता

By: Lubhavan

Published: 29 Mar 2020, 03:16 PM IST

अलवर. कोविड-19 के खतरे को देखते हुए देश भर में चल रहे लॉक आउट के बीच श्रमिकों और गरीबों के सामने पेट भरने का संकट पैदा हो गया है। अलवर जिले से गुजर रहे श्रमिकों के आराम व उनको भोजन कराने के लिए गांव-गांव में टैंट लगा दिए गए हैं। जिले के सैकड़ों गांवों में हलवाई गरीबों के लिए खाना बना रहे हैं।

एमआईए में छात्रसंघ अध्यक्ष रहे हकमुदीन ने अन्य राज्यों के सैकड़ों श्रमिकों को राशन किट वितरित किए। भूखे-प्यासे और जरूरतमंद लोगों की सहायतार्थ आगे आए ग्रामीणगृह रक्षा प्रशिक्षण केन्द्र अलवर से 200 होमगार्ड जवानों को कोरोना ड्यूटी के लिए जयपुर भेजा गया है।होमगार्ड जवानों को ड्यूटी के लिये रवाना करने से पहले उनको भोजन के पैकेट और मास्क वितरित किए गए।इस दौरान कमान्डेंट पी.एल. चौधरी, कम्पनी कमांडर मक्खन सिंह, प्लाटून कमाण्डर गोविन्द सिंह, सहायक प्रशासनिक अधिकारी बुद्धि प्रकाश मीना सहित फारुख नसरू खां व आसिफ खान उपस्थित थे।

मुंडावर उपखंड के गांव दरबारपुर में ग्राम विकास समिति की ओर से उन लोगों की सहायता की जा रही है, जिनके काम-धन्धे लॉक डाउन की वजह से तबाह हो गए हैं। हरियाणा सीमा से लगते गांव दरबारपुर से निकल रहे हजारों भूखे-प्यासे और जरूरतमंद लोगों के लिए चाय-नाश्ते, फल और भोजन का प्रबंध किया जा रहा है। गांव के शिक्षाविद डॉ. धर्मराज शर्मा ने बताया कि जब से देश में लॉकडाउन की स्थिति हुई है, उनका रोजगार छिन गया है तथा सभी साधन बन्द हो गए हैं।

कई दिनों से बिना कुछ खाए- पिए चल रहे हैं। इसी प्रकार कोरोना फूड हैल्प ग्रुप की ओर से शनिवार को 500 से अधिक लोगों को उनके घरों तक भोजन पहुंचाया गया। इस काम का निर्देशन पूर्व पार्षद राहुल खान सहित इनकी टीम कर रही हैं। इसमें कई पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी सहित समाज सेवी जुटे हुए हैं। इस टीम ने गौशाला में भी भोजन वितरित किया।

Corona virus
Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned