अलवर में पुलिस ने गिरफ्तार किया खतरनाक गिरोह, लालच के लिए इस अपराध को देते थे अंजाम

Rajeev Goyal

Publish: Jan, 22 2018 01:09:47 PM (IST)

Alwar, Rajasthan, India

न्यायालय परिसर की चार बार काटी केबल

अलवर में तांबे के लालच में जिला एवं सत्र न्यायालय सहित सरकारी कार्यालयों की केबल काटने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश कर कोतवाली थाना पुलिस ने तीन जनों को गिरफ्तार किया है। तीनों आरोपी पास की बस्ती में रहने वाले नवयुवक है। जिन्होंने अपने रोजाना के शोक पूरा करने के लिए गिरोह बना वातरदात करने की शुरूआत की। गिरोह के तीनों सदस्य रात के समय में सरकारी कार्यालयों की केबल काट कर उसमें से तांबा निकाल कर बेचते थे। कोतवाल राजवीर सिंह ने बताया कि जिला एवं सत्र न्यायालय के नाजीर एवं मोहल्ला लादिया निवासी रघुनंदन शर्मा पुत्र महेशचंद ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि न्यायालय परिसर में इंटरकॉम को कनेक्ट करने वाली केबल को कोई अज्ञात व्यक्ति काटकर चुरा ले गया। मामले में जिला पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर स्पेशल टीम गठित की गई। टीम ने रविवार को केबल काटने के तीन आरोपित डंडे वाले हनुमान मंदिर हजूरी गेट निवासी उमेश उर्फ टेडी पुत्र घनश्याम वाल्मीकि, सन्नी पुत्र जगदीश व विशाल अटवाल पुत्र चेतन अटवाल को गिरफ्तार किया। पुलिस पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि वे सूने कार्यालय एवं भवनों में लगी केबल को रात्रि में फनर अथवा कटर से काटकर बोरे में डालकर ले जाते और फिर उसे जलाकर उसमें से तांबा निकालते थे। बाद में उस तांबें को कबाडिय़ों को बेचते थे।

ये थे टीम में शामिल

कोतवाल के अनुसार टीम में हैडकांस्टेबल अमरसिंह, कांस्टेबल मूलचंद, हरिओम, कृष्ण कुमार, करतार सिंह, कानाराम, यादराम आदि शामिल थे।

मार्च 2017 में पहली बार काटा केबल का तार

कोतवाल ने बताया कि आरोपितों ने चार बार तो अकेले न्यायालय परिसर की इंटरनेट केबल काटी। सबसे पहले उन्होंने मार्च 2017 में केबल को काटा, जिसका थाने में मामला भी दर्ज हुआ। इसके बाद दिसम्बर 2017 में केबल काटी। जनवरी 2018 में आरोपितों ने दो बार न्यायालय परिसर की केबल को काटा। जिसके अलग-अलग पुलिस में मामले दर्ज हुए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned