नीमराणा प्रकरण में पुलिस के हाथ पहुंचे अपराधियों की गिरेबान तक,यहां तक पहुंची कार्रवाई

नीमराणा प्रकरण में पुलिस के हाथ पहुंचे अपराधियों की गिरेबान तक,यहां तक पहुंची कार्रवाई

Rajeev Goyal | Updated: 07 Feb 2018, 11:57:15 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

नीमराणा में फायरिंग व लूटपाट प्रकरण में अपराधियों पर शिकंजा कसने की लिए पुलिस ने बिछाया जाल

नीमराणा कस्बे के कृष्णा टावर स्थित योगेश ज्वेलर्स पर फायरिंग व लूटपाट के मामले में पुलिस सफलता के करीब पहुंच गई है। मामले में पुलिस ने कुछ बदमाशों को चिह्नित किया है, जिनकी जल्द गिरफ्तारी की जाएगी। उधर, मामले में हरिया व उसके अन्य साथियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने अलग-अलग टीमें गठित कर विभिन्न स्थानों पर भेजी हैं। इसके अलावा पुलिस की तीन विशेष टीमें बदमाशों की पहचान, लिप्तता व उनका अन्य बदमाश व लोगों से संबंध ढूढने की दिशा में काम कर रही हैं।

पुलिस ने भेजी ईनाम की चिट्ठी

अलवर पुलिस अधीक्षक ने भी हरिया की गिरफ्तारी पर 25 हजार रुपए की ईनाम की चिट्ठी तैयार कर अनुशंसा के लिए पुलिस मुख्यालय भिजवाई है। उधर, मामले का खुलासा नहीं होने एवं अपराधियों की गिरफ्तारी में देरी से पीडि़त दुकानदारों और व्यापारियों में रोष है। मामले में नीमराणा एएसपी हिमांशु ने बताया कि मामले में पुलिस ने कई संदिग्धों को चिह्नित किया है। जल्द ही आरोपित पुलिस के शिकंजे में होंगे।

हादसे में घायल से मिले रोहिताश्व शर्मा

इधर, अंतरराज्यीय जल वितरण बोर्ड के अध्यक्ष रोहिताश शर्मा मंगलवार को नीमराणा पहुंचे और कस्बा के निजी अस्पताल में उपचाराधीन घायल ज्वेलर कैलाश चंद शर्मा व पड़ोसी दुकानदार दामोदर खंडेलवाल से मुलाकात की। उन्होंने घायलों की कुशलक्षेम पूछ घटना की जानकारी ली। घटना के आरोपित बदमाशों को पकडऩे की जल्द कार्रवाई के लिए आईजी हेमंत प्रियदर्शी से फोन पर बात की। उन्होंने उच्च पुलिस अधिकारी से कार्रवाई में तत्परता लाने और व्यापारियों को सुरक्षा प्रदान करने की बात की।

घटना से पहले अलवर आया था हरिया

पुलिस की तहकीकात में ये भी सामने आया है कि हरिया व उसके गैंग के सदस्य ज्वैलर्स से लूट की घटना से दो दिन पहले ही अलवर आ गए। वे किशनगढ़बास में दो दिन ठहरे और अपने दो साथियों के यहां खाना खाया। लूट की वारदात के बाद भी वे किशनगढ़बास गए और अपने साथियों के यहां ठहरे।

मामले में पुलिस सफलता के नजदीक पहुंच गई है। पुलिस ने कुछ संदिग्धों को चिह्नित किया है। उम्मीद है कि जल्द आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
राहुल प्रकाश, जिला पुलिस अधीक्षक अलवर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned