छात्रोंं पर लाठीचार्ज के मामले में थानाधिकारी कन्हैयालाल पर गिरी गाज

Alwar Police Lathi charge Case: राजस्थान में अलवर के एक महाविद्यालय में कल छात्रसंघ चुनाव के बाद पुनर्मतगणना की मांग कर रहे छात्रों पर लाठीचार्ज के मामले में पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख ने थानाधिकारी को निलंबित कर दिया है।

By: santosh

Updated: 29 Aug 2019, 06:47 PM IST

अलवर। Alwar Police Lathi charge Case: राजस्थान में अलवर के एक महाविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव के बाद पुनर्मतगणना की मांग कर रहे छात्रों पर लाठीचार्ज के मामले में पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख ने थानाधिकारी को निलंबित कर दिया है। पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख ने बताया कि बृहस्पतिवार रात राज ऋषि कॉलेज के चौराहे पर जो घटना घटित हुई उसका वीडियो देखने के बाद यह सामने आया कि वहां जरूरत से ज्यादा पुलिस बल तैनात था और गलत तरीके से लाठीचार्ज किया गया।

 

लिहाजा इस इस मामले में अलवर शहर कोतवाल कन्हैयालाल को दोषी मानते हुए तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि इस मामले की जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण को सौंपी गई है। इस मामले में पूरी जांच की जाएगी और जो भी दोषी होगा उनकी भूमिका भी की जांच होगी और कानूनन उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस घटना में अन्य पुलिसकर्मियों को भी चिन्हित किया जा रहा है। इससे पहले मीणा समाज और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र अलवर शहर कोतवाल सहित अन्य पुलिस अधिकारियों प्रशासन अधिकारियों की भूमिका की जांच की मांग को लेकर आज पुलिस अधीक्षक से मिले। उधर पुलिस लाठीचार्ज का शिकार मीणा समाज के प्रदेश अध्यक्ष फौजी अमर चंद मीणा ने बताया कि इस संबंध में मीणा समाज के प्रतिनिधि पुलिस अधीक्षक से मिले हैं।

 

पुलिस अधीक्षक ने मौके पर ही यह जानकारी दी कि कोतवाल को निलंबित कर दिया गया है और जो भी इस मामले में दोषी होंगे कार्रवाई की जाएगी। बुधवार रात अलवर शहर के राज ऋषि कॉलेज में बीती रात पुलिस द्वारा की गई लाठीचार्ज के खिलाफ बृहस्पतिवार सुबह राज ऋषि कॉलेज में छात्रों ने प्रदर्शन कर मुख्य द्वार बंद कर दिया और और आरोपी दोषी पुलिस अधिकारियों को निलम्बित करने की मांग की। उल्लेखनीय है कि 28 अगस्त को राज ऋषि कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष के लिये मतगणना में छात्रसंघ अध्यक्ष पद पर पूजा झीरवाल दो मतों से जीत रही थी जिसका विरोध दूसरे प्रत्याशी ने किया और पुनर्मतगणना की मांग की। बताया जाता है कि इसमें चार बार मतगणना हुई जिसमें तीन बार पूजा चुनाव जीत रही थी और अंतिम मतगणना में दो मतों से दीपक यादव को विजयी घोषित कर दिया गया। इससे छात्र आक्रोशित हो गए और वे धरने पर बैठ गये। पुलिस ने उन्हें खदेडऩे के लिये लाठी चार्ज कर दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned