अलवर से एक कविता रोज: शिक्षक वो है जो संकल्पित हो, लेखिका- लक्ष्मी गोस्वामी

शिक्षक वो जो संकल्पित हो
हर छात्र जिससे पूर्ण प्रेरित हो।

सद्चरित्र व मानवमूल्यों का
संवाहक हो,संप्रेषक हो

By: Lubhavan

Published: 05 Sep 2020, 06:07 PM IST

अलवर से एक कविता रोज-

''शिक्षक वो जो संकल्पित हो''

शिक्षक वो जो संकल्पित हो
हर छात्र जिससे पूर्ण प्रेरित हो।

सद्चरित्र व मानवमूल्यों का
संवाहक हो,संप्रेषक हो

शिक्षक वो जो संकल्पित हो।
ज्ञानदीप की ज्योति से

सब का पथ आलोकित हो।
उज्जवल भविष्य बनाने हेतु

पूर्णतः वो समर्पित हो।
शिक्षक वो जो संकल्पित हो।

आदर्शों की एक मिसाल हो
माता और पिता से ज्यादा
बच्चों में सम्मानित हो।
शिक्षक वो जो संकल्पित हो।
सबको पाठ पढ़ाये धैर्य का,
धर्म ,नीति और राष्ट्रप्रेम का
कठिन परिस्थितियों में भी,
विद्यार्थी कदापि न विचलित हो
शिक्षक वो जो संकल्पित हो।।
लक्ष्मी गोस्वामी
व्यख्याता

लेखिका परिचय-

लक्ष्मी गोस्वामी हिंदी की व्याख्याता हैं इन्हें कई सालों से कविताएं लिखने का शौक है। उन्होंने कई दिशाओं में अपनी स्वरचित कविताएं लिखी हैं, जो सबको बहुत पसंद आती है। हाल ही में राज्य सरकार की ओर से इनका ई कक्षा प्रोजेक्ट के लिए चयन किया गया है।

Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned