इमरान ने फिर बढ़ाया अलवर का मान, प्रधानमंत्री ने कहा, और कितने एप बना रहे हो इमरान

इमरान ने फिर बढ़ाया अलवर का मान, प्रधानमंत्री ने कहा, और कितने एप बना रहे हो इमरान

Hiren Joshi | Publish: Sep, 05 2018 10:14:15 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/alwar-news/

नई दिल्ïली. ‘प्रधानमंत्री ने जब लंदन में मेरा नाम लेकर कहा था, हिंदुस्तान अलवर के इमरान में बसता है। तब से मैं प्रधानमंत्री से मिलना चाहता था। आज मेरी इच्छा पूरी हो गई। पीएम ने मुझसे पूछा, और इमरान कैसे हो। तुमने कितने एप बनाए हैं। यू आर डूइंग वेल’ राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिए चुने गए देशभर के 45 शिक्षकों में से एक अलवर के इमरान खान मेवाती भी है। उन्हें बुधवार को उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु पुरस्कार से नवाजेंगे। इससे पहले उन्होंने मंगलवार को प्रधानमंत्री से मुलाकात की। इमरान राजकीय वरिष्ठ उपाध्याय संस्कृति स्कूल, अलवर में प्राइमरी क्लास के बच्चों को पढ़ाते हैं। उन्होंने अभी तक पढऩे और पढ़ाने के 8 0 से ज्यादा मोबाइल एप बनाए हैं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 2015 में उनके एप को अपने डिजिटल अभियान में शामिल किया था।

आर्थिक तंगी की वजह से नहीं बना वैज्ञानिक

इमरान कहते है, ‘पापा किसान थे। मेरी इच्छा वैज्ञानिक बनने की थी, लेकिन घरेलू आर्थिक परिस्थितियों की वजह से वैज्ञानिक नहीं बन पाया।’ उन्होंने कहा, ‘भाई घर में पुराना कम्प्यूटर छोड़ कर चला गया था। मैंने कम्प्यूटर का इस्तेमाल करना शुरू किया और कुछ किताबों से पढ़ाई शुरू की, धीर-धीरे मोबाइल एप बनाना शुरू किया।’
उन्होंने बताया कि इनके जिले के बच्चे प्राइवेट स्कूल में पढऩा चाहते थे। लेकिन उन्होंने अपने स्कूल में कम्प्यूटर लैब बनाई। इससे प्राइवेट स्कूल के बच्चे भी अब उनके स्कूल की ओर आकर्षित होते हैं। उन्होंने कहा कि माना जाता है कि पहले सिर्फ उन्हीं अध्यापकों को पुरस्कार के लिए चुना जाता था, जिनके संपर्क होते थे। लेकिन अब नए दिशा-निर्देश बनने के बाद इसमें हुनर की कद्र शुरू हो गई है।

प्रधानमंत्री ने फिर अलवर के इमरान की तारीफ की

अलवर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को इमरान खान से मुलाकात के बाद खुद ही इसकी जानकारी टवीटर पर दी। उन्होंने लिखा कि, अलवर के मोहम्मद इमरान खान मेवाती से मुलाकात हुई। उन्होंने इमरान को बधाई देते हुए लिखा कि इमरान खान के कार्यों की मैं प्रशंसा करता हूं। उन्होंने शैक्षणिक ई-कंटेंट के साथ ही इनके एप्स ने प्रारम्भिक और माध्यमिक शिक्षा के साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं को भी कवर किया है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री ने लंदन से भाषण के दौरान कहा था कि मेरा भारत अलवर के इमरान में बसता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned