चारागाह भूमि से मिट्टी का अवैध खनन

चारागाह भूमि से मिट्टी का अवैध खनन
चारागाह भूमि से मिट्टी का अवैध खनन

Pradeep kumar yadav | Updated: 25 Aug 2019, 05:43:18 PM (IST) Alwar, Alwar, Rajasthan, India

सरकारी सम्पदा को पहुंचा रहे नुकसान

अलवर. बहरोड़ क्षेत्र में भू-माफिया चारागाह भूमि से बड़े पैमाने पर मिट्टी का अवैध खनन कर रहे हैं। क्षेत्र के गांव बसई में भू-माफिया रोजाना तीन सौ से अधिक मिट्टी की ट्रॉली निकाल कर बेचने का अवैध कारोबार किया जा रहा है। इसकी जानकारी तहसीलदार, हलका पटवारी व पंचायत के साथ पुलिस प्रशासन को भी है, लेकिन वह क्षेत्राअधिकार का बहाना बनाकर पल्ला झाड़ रहे हैं। लगातार हो रही मिट्टी दोहन के बावजूद माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने से ग्रामीणों में रोष है।
ग्रामीणों का आरोप है कि खनन माफिया प्रशासन की मिलीभगत से जमकर चांदी कूट रहे हैं। यहां प्रतिदिन ३०० ट्रॉली मिट्टी का अवैध खनन कर बेचान किया जा रहा है। बाजार में एक ट्रॉली करीब १३०० से १५०० रुपए में बिक रही है। यहां सुबह से देर रात तक धड़ल्ले से खनन कार्य किया जा रहा है। महज एक साल के भीतर ही भू माफियाओं ने बड़ी दूरी तक चारागाह भूमि को खोद डाला है। माफिया मिट्टी की अवैध सप्लाई कर सरकार को लाखों की चपत लगा रहे हैं।


दो जेसीबी और आधा दर्जन ट्रैक्टर कैमरा देखते ही गायब
अवैध खनन स्थल पर शुक्रवार सुबह ६ बजे पत्रिका टीम पहुंची तो वहां से जंगल से मिट्टी से भरे ट्रैक्टर ट्रॉली जा रहे थे। खनन स्थल पर पहुंचे तो वहां पर दो जेसीबी मशीन से आधा दर्जन ट्रैक्टरों को मिट्टी से भरा जा रहा था। कैमरा देखते ही जेसीबी मशीन व ट्रैक्टर ट्रॉली जंगल में दौड़ा ले गए और मिट्टी से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली को रास्ते में ही खाली कर गए। सरपंच सहित ग्रामीणों ने बताया कि यहां से रोजाना लगभग दो लाख रुपए की मिट्टी का अवैध खनन कर पैसे की बंदरबाट हो रही है।


शिकायतों के बावजूद कार्रवाई नहीं
बेशकीमती चारागाह भूमि पर मिट्टी के अवैध दोहन को रोकने के मामले में ग्राम पंचायत सरपंच कृष्ण मीणा के साथ ग्रामीणों ने कई बार जिला कलक्टर, एडीएम, एसडीएम, तहसीलदार, खनन विभाग सहित उच्च अधिकारियों को शिकायत कर चुके हंै। परन्तु यहां कोई प्रभावी कारवाई नहीं हो रही है।


पेड़ों को भी कर रहे बर्बाद
यहां पर चारागाह भूमि से किए जा रहे अवैध खनन के दौरान जेसीबी से खुदाई के चलते पेड़ों को भी उखाड़ कर डाल दिया जाता है, जिससे पहाड़ों व चारागाह की सम्पदा नष्ट हो रही है। मिट्टी के दोहन के साथ पेड़ ठूठ में तब्दील हो रहे हैं। इससे पर्यावरण को नुकसान पहुंचेगा। इस तरफ राजस्व विभाग के अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं।


देगें कार्रवाई के निर्देश
बसई गांव मेंं चारागाह भूमि से मिट्टी का अवैध खनन हो रहा है तो उसके खिलाफ कार्रवाई के लिए तहसीलदार व सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश देंगे।
ं-सुभाष यादव, उपजिला कलक्टर बहरोड़

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned