भिवाड़ी में एसपी व अलवर में कलक्टर कार्यालय से दुविधा

भिवाड़ी में एसपी व अलवर में कलक्टर कार्यालय से दुविधा
भिवाड़ी में एसपी व अलवर में कलक्टर कार्यालय से दुविधा

Pradeep kumar yadav | Updated: 22 Aug 2019, 05:20:09 PM (IST) Alwar, Alwar, Rajasthan, India

बहरोड़ से भिवाड़ी व अलवर की दूरी समान

अलवर. जिले में दो पुलिस जिले बनाने की घोषणा के बाद भिवाड़ी में नया एसपी लगा दिया गया है , जिसमें बहरोड़ सर्किल को शामिल किया गया और प्रशासनिक कार्यो के लिए आमजन को अलवर कलक्टर कार्यालय जाना पड़ेगा। बहरोड़ की अलवर और भिवाड़ी से दूरी लगभग 68 किमी है जो समान है, जिससे आमजन को इससे लाभ की बजाय परेशानी ही होगी। सरकार के इस निर्णय से लोगों को राहत की बजाय दुविधा नजर आ रही है।
क्षेत्र के लोगों को कहना है कि दूरी समान है और अलवर में प्रशासनिक व्यवस्था है जिससे एक साथ कई काम हो जाते हैं। अब ऐसे में उनको अलवर और भिवाड़ी के अलग-अलग चक्कर लगाने होंगे, जिसके चलते उनका समय और धन बर्बाद होगा। सरपंच संघ के पूर्व अध्यक्ष दाताराम यादव ने मामले में मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर समस्या के निराकरण की मांग की है।


प्रशासनिक व्यवस्था भी हो वहीं
आमजन को अपने कार्यों के लिए परेशानी का सामना नहीं करना पड़े इसके लिए क्षेत्र के लोगों की मांग है कि स्थाई व्यवस्था होने तक या तो एसपी का मुख्यालय अलवर ही रहे या फिर भिवाड़ी में बीडा के लिए स्वीकृत आएएस अधिकारी को लगा कर बीडा का अतिरिक्त पद भार दे दिया जाए, जिससे लोगों को प्रशासनिक कार्यों के लिए अलवर के चक्कर नहीं काटने पड़ें और उनको परेशानी से राहत मिले।


अपराधों पर अंकुश के लिए बनाएंगे कार्य योजना
भिवाड़ी के नए जिला पुलिस अधीक्षक अमनदीप कपूर ने कहा कि उन्होंने पदभार ग्रहण कर लिया है और उसके बाद वे बहरोड़ आए हैं। सभी अधिकारियों व अपनी टीम के साथ मिलकर अपराधों पर अंकुश के लिए रूपरेखा बनाई जाएगी। बेहतर कानून व्यवस्था के लिए जल्द क्राइम मिटिंग कर चर्चा करेंगे। कानून व्यवस्था में सुधार किया जाएगा। नव सृजित पुलिस जिले के लिए आवश्यक व्यवस्थाओं को पूरा करने पर काम किया जाएगा। पुलिस थानों की कमियों को दूर करेंगे और स्टाफ व संसाधन बढ़ाए जाएंगे। पहलू खां मामले मे एसआईटी टीम पर कहा कि वह स्वतंत्र टीम है जिसके बारे में वह बोलने के लिए अधिकृत नहीं हंै। हमारा काम उनको सहयोग करने का रहेगा। बानसूर से भिवाड़ी दूर अलवर नजदीक रहने पर कहा कि यह प्रशासनिक निर्णय है वह इस पर वह कुछ नहीं कह सकते।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned