अलवर: मंत्री व विधायक की जुबानी जंग पर पर जानिए क्या बोले भाजपा जिलाध्यक्ष, दे दिया यह बयान

अलवर: मंत्री व विधायक की जुबानी जंग पर पर जानिए क्या बोले भाजपा जिलाध्यक्ष, दे दिया यह बयान

Dharmendra Yadav | Publish: Feb, 15 2018 10:12:55 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

लोकसभा उपचुनावों में हार के बाद अब भाजपा के अंदर बहस बाजी शुरू हो गई है, इस मुद्दे पर भाजपा जिलाध्यक्ष ने बयान दिया है।

अलवर. लोकसभा उप चुनाव में भाजपा की हार के बाद बहरोड़ विधायक और श्रम मंत्री डॉ. जसवंत सिंह यादव व रामगढ़ के विधायक ज्ञानदेव आहूजा की जुबानी जंग के आगे लगता है भाजपा संगठन बौना पड़ गया है। विधायक आहूजा का एक कार्यकर्ता से बातचीत का ऑडियो वायरल होने के बाद भाजपा में भुचाल सा आ गया। ऑडियो में उपचुनाव में हार का जिम्मेदार सरकार व प्रत्याशी को ठहरा दिया। इस ऑडियो का जवाब जब श्रम मंत्री लोकसभा उप चुनाव में अलवर से भाजपा के प्रत्याशी रहे डॉ. जसवंत सिंह यादव ने दिया तो आहूजा फिर से भडक़ उठे। जब श्रम मंत्री ने कहा कि आहूजा के बयान से लगता है उनमें मानसिक विकृति आ गई। फिर इसी दिन आहूजा ने श्रम मंत्री पर जुबानी हमला बोल दिया। उन्हें बेशर्म, पागल ही नहीं कहा बल्कि यह भी कहा कि वे हार से बौखला गए हैं। एेसे पागल का इलाज आगरा में ही संभव है। पिछले कई दिनों से चल रहे इस घटनाक्रम के बाद भी संगठन के स्तर पर कोई कार्रवाई तो दूर पदाधिकारी कुछ बोलने से भी कतरा रहे हैं।

जिलाध्यक्ष: पं. धर्मवीर शर्मा
सवाल : मंत्री-विधायक के बीच इस तरह की बयानबाजी के बाद भी संगठन चुप क्यूं है?
जवाब : ये हमारे स्तर पर जांच नहीं होनी। उच्च स्तर पर इसके सम्बंध में उचित कार्रवाई चल रही है। जो भी होगा परिणाम सामने आ जाएगा।
सवाल : उच्च स्तर पर संगठन ने कोई फीडबैक आपसे लिया है?
जवाब : उसी के आधार पर मैं बता रहा हूं।
सवाल : पार्टी को नुकसान हो रहा है। फिर भी संगठन चुप क्यूं है?
जवाब : आपकी बात अपनी जगह ठीक है। पार्टी मौन नहीं है।
सवाल : किसी विधायक पर छींटाकशी हो तो अलग बात है सरकार पर भी सवाल है?
जवाब : देखो संगठन अपने हिसाब से काम कर रहा है। मैं आपके उकसाने से थोड़े ही कुछ कहूंगा।
सवाल : पार्टी की साख गिर रही हैं। कार्यकर्ता चुप हैं। फिर भी कार्रवाई क्यूं नहीं? संगठन चुप क्यूं?
जवाब : संगठन चुप नहीं है। कार्रवाई हो रही है। बता देंगे टाइम पर। जितनी जरूरत है उतना समय तो लगेगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned