गंदे पानी के गड्ढे में डूबने से फिर गई मासूम की जान

गंदे पानी के गड्ढे में डूबने से फिर गई मासूम की जान

| Publish: Apr, 17 2017 06:48:00 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

भिवाड़ी. भिवाड़ी में उद्योगों से निकले गंदे पानी ने एक बार फिर एक मासूम की जान ले ली है।

भिवाड़ी. भिवाड़ी में उद्योगों से निकले गंदे पानी ने एक बार फिर एक मासूम की जान ले ली है। सचिन(10) पुत्र बच्चू ङ्क्षसह निवासी अलवर रामपुर मुंडाना में नाना कश्मीर ङ्क्षसह के यहां रहता था और कक्षा चार में पढ़ता था। वह रविवार दोपहर को करीब तीन बजे पड़ोस के रहने वाले दोस्त उसे पास में फैक्ट्रियों से निकले पानी में नहाने ले गए। पानी में डूबने से सचिन की मौत हो गई। 



रात भर सचिन का शव पानी में डूबा रहा। ग्रामीण और परिजन शव को खोजते रहे। अगले दिन सोमवार को सुबह 11 बजे सचिन का शव मिल सका। ग्रामीण पाल गुर्जर ने बताया कि रात को 11 बजे पुलिस को सूचना दे दी गई थी, लेकिन पुलिस अगले दिन सुबह 11 बजे पहुंची जब तक शव को निकाला जा चुका था।



 पुलिस ने घटना को लेकर रुचि नहीं दिखाई जिससे क्षेत्रीय लोगों में असंतोष है। ग्रामीणों का कहना है कि दो अप्रेल को सैदपुर के दो मासूमों की भी इसी तरह से मौत हुई थी। तब पुलिस ने शव को निकालने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा दिया था। 


कुछ दिनों के अंदर तीन मासूमों की मौत फैक्ट्रियों से निकले गंदे पानी से हो चुकी है। रामपुर मुंडाना में जिस जगह सचिन डूबा पहाडी के नीचे का हिस्सा है। जिसमें फैक्ट्रियों से निकला गंदा पानी और कचरा भरा रहता है। 



सैदपुर के बच्चों की मौत भी फैक्ट्रियों से निकले गंदे पानी से हुई थी। दोनों ही मामलों में जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही सामने आ रही है। गंदा पानी पर्यावरण, भूमिगत जल को दूषित कर रहा है, दूसरी तरफ मासूमों की मौत हो रही है। 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned