धोखे का धंधा: निवेशकों के ठग लिए साढ़े पन्द्रह करोड़ रुपए अब पकड़ी गई डायरेक्टर की पत्नी

धोखे के धंधा: निवेशकों के ठग लिए साढ़े पन्द्रह करोड़ रुपए अब पकड़ी गई डायरेक्टर की पत्नी

By: Kailash

Published: 07 Mar 2020, 11:29 PM IST


रीको के नाम पर हाउसिंग सोसायटी के नाम पर ठगी
दिसम्बर 2018 में आठ सौ निवेशकों ने दर्ज कराया था मामला
नीमराणा. क्षेत्र के मोहलडिय़ा गांव में आनंदम हाउसिंग सोसायटी के नाम पर निवेशकों के करोड़ों रुपए ठगने के आरोप में नीमराणा पुलिस ने हाउसिंग सोसायटी के डायरेक्टर की पत्नी निधि अरोड़ा को गिरफ्तार किया है। थानाधिकारी हरदयालसिंह यादव ने बताया कि दिसम्बर2018 में मुण्डावर निवासी राजेश गुप्ता व अन्य आठ सौ निवेशकों ने पुलिस थाने में मुख्यमंत्री जन आवास योजना में हाउसिंग सोसायटी के नाम पर हुई धोखाधड़ी के मामले में मुकदमा दर्ज कराया था। निवेशकों ने कम्पनी पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने रीको का उपक्रम समझकर आठ सौ फ्लैट की बुकिंग करवा ली थी। जिसमे उनके साढ़े पन्द्रह करोड़ से अधिक रुपए फंस गए थे। मामले में जब खुलासा हुआ तब तक डायरेक्ट ने रुपए लेकर फ्लैट आवंटन कर दिए। जबकी मौके पर फ्लैट बनाने के लिए नींव तक नहीं खोदी गई थी। धोखाधड़ी के शिकार हुए लोगों ने पुलिस थाने में कम्पनी के डायरेक्टर, उसकी पत्नी और कर्मचारियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया था। निवेशकों ने मामले में कोटक महिंद्रा बैंक के अधिकारियों की मिलीभगत की आशंका जाहिर की थी। रेरा कानून के मुताबिक बैंक की वेबसाइट पर रेरा अकाउंट होना अनिवार्य बताया लेकिन कोटक महिंद्रा बैंक ने बिना रेरा बैंक खाता खोले ही आवेदकों के रूपए आहरण करा दिया था।

जमीन मालिकों ने भी कराया था मामला दर्ज
थानाधिकारी हरदयालसिंह यादव ने बताया कि आनंदम होम हाउसिंग सोसायटी के डायरेक्टर चन्द्र प्रकाश के खिलाफ जमीन के मालिकों ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया था। जिस पर पुलिस जांच कर रही है। नीमराणा पुलिस ने कम्पनी के डायरेक्टर चन्द्र प्रकाश की पत्नी निधि अरोड़ा को गुडग़ांव से गिरफ्तार किया है। वहीं निधि का पति चन्द्र प्रकाश अभी पुलिस की गिरफ्त से फरार चल रहा है।

फोटो कैप्शन बीए08 सीएम-नीमराणा थाने के बाहर खड़े निवेशक।

Kailash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned