लॉक डाउन में पापा हुए बेरोजगार, बच्चे ने मुख्यमंत्री को लिख दिया पत्र, आगे हुए यह

अलवर शहर में एक बच्चे के मुख्यमंत्री को मार्मिक पत्र लिखने का समाचार प्रकाशित होने के बाद कई संस्थांए आगे आई हैं। ये संस्थाएं दोनों बच्चों की स्कूल फीस का जिम्मा उठाने को तैयार हो गई हैं। राजस्थान पत्रिका में 19 जुलाई को प्रकाशित समाचार सीएम को लिखा पत्र, लॉक डाउन से पापा बेरोजगार, पीएम से मिला दीजिए.... के बाद नवीं कक्षा के विद्यार्थी दर्श और उसकी बहन पलक के पढ़ाई का पूरा खर्चा उठाने के लिए कई संस्थाएं आगे आई हैं।

By: Dharmendra Adlakha

Published: 20 Jul 2020, 09:13 AM IST

अलवर शहर में एक बच्चे के मुख्यमंत्री को मार्मिक पत्र लिखने का समाचार प्रकाशित होने के बाद कई संस्थांए आगे आई हैं। ये संस्थाएं दोनों बच्चों की स्कूल फीस का जिम्मा उठाने को तैयार हो गई हैं। राजस्थान पत्रिका में 19 जुलाई को प्रकाशित समाचार सीएम को लिखा पत्र, लॉक डाउन से पापा बेरोजगार, पीएम से मिला दीजिए.... के बाद नवीं कक्षा के विद्यार्थी दर्श और उसकी बहन पलक के पढ़ाई का पूरा खर्चा उठाने के लिए कई संस्थाएं आगे आई हैं।

रविवार को इस समाचार के प्रकाशित होने के बाद अलवर के मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी अनिल कौशिक के पास सुबह से ही प्रदेश भर से कई स्वयं सेवी संस्थाओं के फोन आना शुरू हो गए।

अग्रवाल समाज के अध्यक्ष अमित गोयल भामाशाह के साथ इनके घर पहुंचे और एक पत्र भी समाज की ओर से सौंपा। गोयल ने कहा कि दोनों भाई-बहन की पढ़ाई का जिम्मा ले लिया है। यह बच्चे किसी भी स्कूल में पढ़ेंगे तो इसके लिए पैसे की कमी नहीं आने दी जाएगी।
इस अवसर पर समाज के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुरेश अग्रवाल, लेखाकार प्रमोद सिंघल छात्रावास संयोजक अशोक मित्तल थे।

आदिनाथ शिक्षण समिति भी आगे आई-

शहर में सीबीएसई स्कूल संचालित करने वाली संस्था आदिनाथ शिक्षण संस्थान के अध्यक्ष विजय जैन व सचिव ऋषभ जैन समाचार प्रकाशित होने के बाद दर्श के घर पहुंचे। इन्होंने प्रस्ताव दिया कि वे बालिका पलक को आदिनाथ पब्लिक स्कूल में नि:शुल्क पढ़ाएंगे। अध्यक्ष विजय जैन के अनुसार यदि कोई बालक प्रतिभाशाली है तो उसे गरीबी के कारण पढ़ाई नहीं छोडऩे नहीं दिया जाएगा। स्कूल के प्रभारी नीरज जैन व मनीष जैन का कहना है कि बड़े बच्चे दर्श को किसी भी स्कूल में पढऩे पर निशुल्क ऑन लाइन शिक्षा की व्यवस्था होगी। इसी प्रकार रोटरी क्लब अलवर के उपाध्यक्ष शशांक झालानी का कहना है कि इन बच्चों से सम्पर्क कर इनकी सहायता की जाएगी। रोटरी क्लब अलवर फोर्ट के जोन पदाधिकारी अभिषेक तनेजा के अनुसार बच्ची पलक को पढ़ाने के लिए उनसे आवश्यकता की जानकारी लेकर क्लब आगे आएगा। पंजाबी महिला क्लब दा फुलकारी की अध्यक्ष वीना अरोड़ा भी बेटी की पढ़ाई के लिए हरसंभव सहायता के लिए तैयार है।

मुख्यमंत्री को भेजेंगे रिपोर्ट-

दर्श को बाल भारती सीनियर माध्यमिक विद्यालय निशुल्क शिक्षा देने को तैयार हैं। इन दोनों बच्चों को पढऩे में फीस की समस्या आगे नहीं आएगी। कई जगह से स्वयं सेवी संस्थाओं और भामाशाह के फोन आ रहे हैं । हम इसकी तथ्यात्मक रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजेंगे।

- अनिल कौशिक, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी, अलवर।

Dharmendra Adlakha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned