अलवर में होगी कोरोना की जांच, सात दिन से कोई पॉजिटिव नहीं

कोरोना जैसी महामारी के दौर में शुक्रवार का दिन दो कारणों से जिले की जनता के लिए बड़ा राहत भरा रहा है। एक तो यह कि पिछले सात दिनों से जिले में कोई भी नया कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने नहीं आया है। दूसरा यह कि अब अलवर जिले में ही कोरोना संक्रमण की जांच हो सकेगी। मतलब अलवर में ही सैंपल जांच करने के लिए लैब संचालित की जाएगी।

By: Dharmendra Adlakha

Updated: 18 Apr 2020, 10:15 AM IST

कोरोना जैसी महामारी के दौर में शुक्रवार का दिन दो कारणों से जिले की जनता के लिए बड़ा राहत भरा रहा है। एक तो यह कि पिछले सात दिनों से जिले में कोई भी नया कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने नहीं आया है। दूसरा यह कि अब अलवर जिले में ही कोरोना संक्रमण की जांच हो सकेगी। मतलब अलवर में ही सैंपल जांच करने के लिए लैब संचालित की जाएगी। जिसके लिए शुक्रवार को मुख्यमंत्री ने घोषणा कर दी है। वैसे तो सभी जिलों में कोविड-19 की जांच शुरू होगी लेकिन, अलवर जिले को प्राथमिकता देने की बात भी सामने आई है। दूसरी और जिले में 11 अप्रेल के बाद कोई नया कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने नहीं आने से कुछ राहत है। सबसे आखिरी में नीरामणा के महताबास गांव में एक युवक कोरोना पॉजिटिव मिला था। हालांकि उसके सैंपल की जांच जरूर धीमी है लेकिन, जितने भी सैंपल की रिपोर्ट मिली सब नेगेटिव आई है। जिले में सबसे पहले 30 मार्च को पॉजिटिव मरीज मिला। उसके बाद आठ मरीज सामने आए। लेकिन 11 अप्रेल के बाद नया मरीज नहीं आया है।
वीडिया कॉन्फ्रेंसिंग में कहा : सब जिलों में होगी कोविड-19 की जांच
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए केबिनेट की बैठक ली। इस दौरान श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली ने सुझाव दिया कि कोरोना संदिग्धों के सैंपल की जांच में तेजी लाकर और तुरंत इलाज से ही कोरोना को हराया जा सकेगा। जिसके लिए अलवर सहित अन्य जिलों में कोविड 19 की जांच के लिए लैब होना जरूरी है। इस पर मुख्यमंत्री गहलोत ने सभी जिलों में कोविड 19 की जांच के लिए लैब शुरू कराने पर सहमति दी है। जूली ने नीमराणा पंचायत समिति कार्यालय में पहुंचकर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में भाग लिया।
मुख्यमंत्री ने मांगी विस्तृत रिपोर्ट
मुख्यमंत्राी गहलोत ने श्रम राज्यमंत्री जूली से कोरोना संक्रमण की रोकथाम के तहत अलवर जिले की गतिविधियों एवं व्यवस्थाओं के बारे में विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। जूली ने उनको अवगत कराया कि आमजन को राशन किट व भोजन वितरण की व्यवस्था सुचारू रूप जारी रही है। जिला प्रशासन, पुलिस, चिकित्सा विभाग, शिक्षक, आशा, एएनएम व आंंगनबाडी कार्यकर्ता तथा सफाईकर्मी टीम भावना से कार्य में लगे हैं। इस पर मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि एक भी व्यक्ति भूखा नहीं सोए।

Dharmendra Adlakha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned