किसानों के खाते में जमा हुए करोड़ों रुपए, मिले नोटिस

किसानों के खाते में जमा हुए करोड़ों रुपए, मिले नोटिस

| Publish: Mar, 15 2017 08:15:00 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

एक तरफ कई राज्यों में फसल कम होने या बर्बाद होने पर किसान आत्महत्या कर लेते हैं, अलवर जिले में कई एेसे किसान हैं, जिन्होंने नोटबंदी के दौरान करोड़ों रुपए बैंक खाते में जमा कराए हैं।

एक तरफ कई राज्यों में फसल कम होने या बर्बाद होने पर किसान आत्महत्या कर लेते हैं, अलवर जिले में कई एेसे किसान हैं, जिन्होंने नोटबंदी के दौरान करोड़ों रुपए बैंक खाते में जमा कराए हैं।


 अब एेसे किसानों को आयकर विभाग के मुख्यालय ने सर्च कर उनको नोटिस भेजे हैं।


नोटबंदी में जमा कराए करोड़ों

अलवर जिले में नोटबंदी के दौरान करोड़ों रुपए जमा हुए। ये करोड़ों रुपए एेसे खातों में जमा हुए उनके खाताधारक किसान के नाम से अंकित थे। इन खातों में पूर्व में इतनी बड़ी राशि कभी भी जमा नहीं हुई थी। 


अलवर जिले में  ६ हजार  बैंक खातों को सर्च किया गया, जिनमें से एेसे काफी संख्या में बैंक खाता धारकों को नोटिस दिया गया। 


इनमें से कई किसान एेसे हैं जो आयकर विवरणी तक नहीं भरते हैं। कई एेसे खाता धारक हैं जिन्होंने एक करोड़ से अधिक की राशि जमा कराई है 

 

मुख्यालय से मिले नोटिस

प्रथम चरण में आयकर विभाग के दिल्ली स्थित मुख्यालय से एेसे किसानों को नोटिस भेजे गए हैं। 


जिन किसानों को आयकर विभाग ने नोटिस भेजे हैं, उनकी सूची आयकर विभाग के स्थानीय कार्यालय को भेजी गई है।


अब बताने होंगे कहां से आए इतने नोट


आयकर विभाग ने उन किसानों से उनके बैंक खातों में जमा हुई राशि के  स्रोत की जानकारी ली है। 


आयकर विभाग ने कई किसानों को भेजे नोटिस में उनकी कुल जमीन और उसकी उत्पादकता की जानकारी मांगी जिसमें  राजस्व विभाग की रिपोर्ट संलग्न करनी होगी।


6 हजार संदिग्ध खातों की जांच तेज

अलवर जिले में आयकर विभाग ने ६ हजार संदिग्ध खातों कीे जांच करने के बाद १११० एेसे किसानों को नोटिस थमाया है जिन्होंने करोड़ों रुपए जमा कराए हैं।


 अलवर जिले में कई एेसे किसान हैं जिनके पास मात्र १० बीघा जमीन के रहते हुए ही करोड़ों की राशि जमा हुई है। 


अब एेसे किसानों से जवाब मांगा गया है। इस नोटिस के जवाब  से संतुष्ट नहीं होने पर आयकर विभाग एेसे किसानों के  खिलाफ  कार्रवाई करेेगा। 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned