CRPF के जवान अजीत सिंह की शहादत पर अशोक गहलोत ने जताया शोक, Twitter पर लिखा, हिम्मत रखे परिवार

CRPF Head Constable Ajeet Singh नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गए। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर शोक जताया है।

By: Lubhavan

Published: 18 Feb 2020, 06:04 PM IST

अलवर. अलवर के बहरोड़ के पास गण्डाला गांव के अजीत सिंह यादव छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों से मुठभेड़ में शहीद हो गए। उनकी शहादत का हर तरफ शोक है। प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर शोक जताया है। अशोक गहलोत ने लिखा कि मैं सीआरपीएफ के हेड कांस्टेबल अजीत सिंह की वीरता को सलाम करता हूं, जो बीजापुर में नक्सलियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए। हम इस मुश्किल समय में शहीद के परिवार के साथ है। ऐसे समय में उन्हें हिम्मत मिले।

10 फरवरी को घायल हुए थे अजीत सिंह्र

अलवर के मांढण क्षेत्र के गण्डाला निवासी अजीत सिंह यादव 10 फरवरी को नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में घायल हो गए थे। मंगलवार को उन्होंने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। अजीत सिंह यादव सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन में तैनात थे। 10 फरवरी को उनकी बटालियन की बीजापुर में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हो गई थी। मुठभेड़ में दो जवान शहीद हो गए थे, वहीं छह जवान घायल हो गए थे। जिनमें से मंगलवार को अजीत सिंह यादव पुत्र स्व. महेन्द्र सिंह यादव ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। इस मुठभेड़ में एक नक्सली को भी मार गिराया।

1994 में कोबरा बटालियन में भर्ती हुए थे

अजीत सिंह यादव1994 में सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन में भर्ती हुए थे। तब से वे नक्सलियों का सामना करते आ रहे हैं। लेकिन 10 फरवरी को वो नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन में गोली लगने की वजह से शहीद हो गए। उन्हें सीने के दाएं तरफ गोली लगी थी।

परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल

हैड कांस्टेबल अजीत सिंह की शहादत की खबर के बाद उनके गांव गण्डाला में शोक की लहर दौड़ गई। उनकी मां कमला देवी सहित परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। जानकारी मिल रही है कि उनका पार्थिव देह बुधवार को उनके गांव लाया जाएगा।

Read More:

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से लड़ते हुए राजस्थान का जवान शहीद, सीने में गोली लगने से शहीद हुए अजीत यादव

Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned