राजस्थान के इस क्रिटिकल जिले में संभागीय आयुक्त ने की जनसुनवाई, पूर्व SP राजीव पचार के लिए बयान, कई लोगों ने की शिकायत

Hiren Joshi | Publish: May, 17 2019 04:53:28 PM (IST) Alwar, Alwar, Rajasthan, India

जयपुर के संभागीय आयुक्त केसी वर्मा ने अलवर में जनसुनवाई की। उन्होंने अलवर के पूर्व एसपी राजीव पचार के थानागाजी मामले में बयान लिए।

अलवर. राजस्थान के सबसे क्रिटिकल जिले अलवर में शुक्रवार को जयपुर के संभागीय आयुक्त केसी वर्मा ने जनसुनवाई की। वर्मा ने बताया कि उन्होंने गुरुवार को थानागाजी में व शुक्रवार को अलवर के सर्किट हाउस में लोगों की समस्याएं सुनी है। संभागीय आयुक्त ने बताया कि इस जनसुनवाई में कई संगठन व लोगों ने अपनी शिकायतें दी है। संभागीय आयुक्त ने बताया कि इस जनसुनवाई में थानागाजी गैंग रेप के अलावा अन्य मामलों के फरियादियों ने अपनी शिकायत दी, उन्हें सुना गया है। इन मामलों में जल्द से जल्द कार्रवाई की जाएगी।

पूर्व एसपी राजीव पचार को भी बुलाया

संभागीय आयुक्त ने अलवर के पूर्व एसपी राजीव पचार के भी बयान लिया। संभागीय आयुक्त ने बताया कि पूर्व एसपी राजीव पचार के बयान लिए गए हैं। थानागाजी गैंग रेप मामले में काफी कुछ इनके बयान पर आधारित हैं, इसके लिए इन्हें बुलाया गया है।

अलवर जिला क्रिटिकल क्यों?

अलवर जिला प्रदेश का सबसे क्रिटिकल जिला है। वजह है यहां होने वाला अपराध। यहां आपराधिक गतिविधियां अन्य जिलों के मुकाबले काफी ज्यादा है। मुख्यमंत्री गहलोत भी इसे सबसे क्रिटिकल जिला बता चुके हैं। अलवर में मॉब लिंचिंग, गोतस्करी, बलात्कार, लूट-पाट जैसे अपराध काफी बढ़ गए हैं, जिसे देखते हुए अब राज्य सरकार ने यहां दो पुलिस अधीक्षक लगाने का फैसला किया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned