खनन के दौरान पहाड़ा खिसका लोगों ने भागकर बचाई जान

पत्थरों के नीचे दो पोकलेन मशीन व दो डम्पर दबे

By: Pradeep

Published: 10 Sep 2021, 02:04 AM IST

अलवर. अलावड़ा क्षेत्र के ओडेला गांव के समीप करौली-खालसा के बीच खनन करते समय गुरुवार सुबह साढ़े ग्यारह बजे अचानक लीज नंबर 6 का पहाड़ अचानक खिसकने से दो पोकलेन मशीन, दो डम्पर व ट्रैक्टर-ट्रॉली दब गई। पहाड़ खिसकने के समय पत्थरों की आवाज सुनकर वहां काम कर रहे लोग भाग खड़े हुए जिससे कोई जनहानि नहीं हुई।
रामगढ़ थाना अधिकारी रामनिवास मीणा ने बताया कि ओडेला गांव के समीप करौली की तरफ लीज पहाड़ पर गुरुवार सुबह लगभग साढ़ेे ग्यारह बजे खनन का कार्य चल रहा था। इस दौरान अचानक 50-60 फीट चौड़ाई में पहाड़ का एक हिस्सा ढह गया। पहाड़ खिसकने से पत्थरों के गिरने की आवाजन सुनकर मौके पर वहां पत्थर खोद रहे करीब 10-12 लोग भाग गए जिससे उनकी जान बच गई। वहीं पोकलेन मशीन के चालक भी मौके से भाग गए। पत्थरों के नीचे 200 फीट से अधिक की गहराई में खड़े दो डंपर, दो पोकलेन मशीन व ट्रैक्टर-ट्रॉली दब गई। धमाके की आवाज सुनकर बड़ी संख्या में ग्रामीण जमा हो गए। ग्रामीणोंं की सूचना पर रामगढ़ थाना अधिकारी रामनिवास मीणा,थाने में तैनात एएसआई नरेन्द्र सिंह व पुलिस जाब्ता के साथ मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का मौका मुआयना किया।
लीज की आड़ में कई जगह अवैध खनन : खनन माफियाओं ने लीज की आड़ में कई किलोमीटर तक पहाड़ साफ कर दिए। ओडेला, मानकी, करौली सहित अनेक पहाड़ों को खनन माफिया ने दीमक की तरह चट कर दिया है।


दो सौ फीट गहराई तक खोदी जा चुकी है जमीन
घटनास्थल पर मौजूद लोगों का कहना है कि पहाड़ की खुदाई धरती लेवल से 200 फुट गहराई से भी अधिक की सीमा तक की जा चुकी है। गहराई तक खनन होने के कारण और बारूदी सुरंग के विस्फोट के कारण पहाड़ में दरार आने की संभावना के चलते पहाड़ खिसकने का डर बना हुआ है। अधिक विस्फोट होने से वहां के क्षेत्र का पानी भी जहरीला होने लग गया है।

Pradeep Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned