इस जिले में ई-मित्र कार्य हुआ बंद, ई-मित्र संचालकों ने कार्य करने से किया मना, जानिए क्या है वजह

अलवर के ई-मित्र संचालकों ने प्रदर्शन कर कार्य करने से मना कर दिया। इससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है।

By: Jyoti Sharma

Published: 09 Dec 2017, 01:49 PM IST

अलवर के ई-मित्र संचालकों ने प्रदर्शन कर कार्य करने से मना कर दिया। इससे लोगों को काफी परेई मित्र संचालकों ने शुक्रवार को विभिन्न मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। जिले भर से आए करीब 200 से ज्यादा ई मित्र संचालक कंपनी बाग में एकत्रित हुए और यहां से वाहन रैली निकाली गई।

रैली नंगली सर्किल, जीडी कॉलेज, मालवीन नगर, रूपबास, हाउसिंग बोर्ड, मनुमार्ग, होपसर्कस, जय कॉम्पलेक्स, भगतसिंह चौराहा, शिवाजी पार्क, बुध विहार से होती हुई वापस कंपनी बाग पहुंची। जिला स्तर पर ई मित्र संचालकों ने अपनी दुकानें बंद कर समर्थन दिया। अलवर ई मित्र संघ के उपाध्यक्ष अंकित गुप्ता ने बताया कि सभी ई मित्र संचालकों ने ऑनलाइन परीक्षा नहीं देने का निर्णय किया है। उन्होंने बताया कि शनिवार को प्रात: 11 बजे कंपनी बाग में जिला स्तर पर ई मित्र यूनियन का गठन किया जाएगा।


संघ के अध्यक्ष साकेत गर्ग ने बताया कि सरकार से ई मित्र पात्रता परीक्षा रदद करने, कमीशन बढ़ाकर संशोधित रेट लिस्ट जारी करने, बिना पूर्व सूचना के पैनल्टी नहीं लगाने, स्कैनिंग व प्रिंटिंग का न्यूनतम चार्ज 5 रुपए करने आदि मांगों सरकार के सामने रखी गई है।


इधर, ई मित्र की दुकानें बंद होने से जिले भर के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पडा। ईमित्र पर नौकरियों के लिए ऑनलाइन आवेदन करने वाले युवा शहर में इधर उधर भटकते रहे। पेंशन, छात्रवृत्ति, विकलांग प्रमाण पत्र सहित अन्य कार्य करने के लिए लोग दिन भर ई मित्र खुलने का इंतजार करते रहे।


नंगली सर्किल पर स्थित ई मित्र के बाहर खडे युवक हिमांशु चौधरी ने बताया कि वह गांव खानपुर अहीर का रहने वाला है और नेवी में भर्ती होने के लिए ऑनलाइन आवेदन करने आया था। आवेदन की आज अंतिम तिथि थी। इस वजह से मुझे काफी परेशानी हुई व मेरा फॉर्म नहीं भर पाया। अब ई-मित्र संचालक जल्द कार्य पर वापस आएंगे तो अच्छा होगा।

 

Jyoti Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned