कहीं झोंपड़ी तो कहीं मकान बनाकर अतिक्रमण, भिवाड़ी यूआईटी की संपत्तियां अतिक्रमण की चपेट में

कहीं झोंपड़ी तो कहीं मकान बनाकर अतिक्रमण, भिवाड़ी यूआईटी की संपत्तियां अतिक्रमण की चपेट में

| Publish: May, 04 2017 07:45:00 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

भिवाड़ी. यूआईटी भिवाड़ी की अरबों रुपए की सैकड़ों संपत्तियों पर अतिक्रण हो चुका है। कहीं झोंपड़ी तो कहीं मकान बनाकर अतिक्रमण किए जा रहे हैं।

धर्मेंद्र दीक्षित

भिवाड़ी. यूआईटी भिवाड़ी की अरबों रुपए की सैकड़ों संपत्तियों पर अतिक्रण हो चुका है। कहीं झोंपड़ी तो कहीं मकान बनाकर अतिक्रमण किए जा रहे हैं। हर रोज हो रहे अतिक्रमणों से यूआईटी की संपत्तियां खतरे में पड़ रही हैं। अगर यही हाल रहा तो यूआईटी की संपत्तियां धीरे-धीरे अतिक्रमण से पट जाएंगी। 



न्यास की संपत्तियों पर हो रहे अतिक्रमण की जानकारी अधिकारियों को मिल रहीं हैं। जिसके बाद यूआईटी की ओर से अतिक्रमणों को चिन्हित किया गया है। संबंधित क्षेत्र के जेईएन को मौका रिपोर्ट तैयार करने के लिए भेजा गया। 



जेई की ओर से तैयार की गई रिपोर्ट में यूआईटी की संपत्तियों पर बड़ी संख्या में अतिक्रमण मिला है। कहीं झोंपड़ी बनाकर, टीन शेड़ बनाकर, बिल्डिंग मैटेरियल का सामान रखकर और कहीं अस्थायी पक्का निर्माण कर अतिक्रमण किया गया है। 



अतिक्रमण यूआईटी की स्कीम और राजस्व दोनों ही जमीनों पर हो रहे हैं, जिससे यूआईटी अधिकारियों की चिंता बढ़ गई है। क्योंकि यूआईटी के बड़े प्रोजेक्ट भी अतिक्रमण की वजह से फंसे हुए हैं। जिनसे अतिक्रमण को खाली कराना यूआईटी के लिए गले की फांस बना हुआ है। 



अब धीरे-धीरे छोटे-छोटे बेशकीमती प्लॉट पर अतिक्रमण होने लगे हैं। अधिकांश अतिक्रमण पड़ोस में रहने वालों की ओर से किए जा रहे हैं। यूआईटी की ओर से ऐसे सैकड़ों प्लॉटों को चिन्हित कर लिया गया है, जिन पर हाल ही में अतिक्रमण हुए हैं। 



यदि अतिक्रमण को जल्द न हटाया गया तो न्यास के लिए मुसीबत खड़ी हो जाएगी। यूआईटी को खाली प्लॉट को बेचने से राजस्व का बड़ा हिस्सा प्राप्त होता है। यदि प्लॉट पर अतिक्रमण हो गया तो ऐसे प्लॉट को नीलाम करना भी मुश्किल हो जाएगा। अच्छा भाव तो मिलना दूर की बात होगी। 



की जाएगी कार्रवाई


यूआईटी के सचिव एमएल योगी ने कहा कि यूआईटी की भूमि पर यदि कोई अतिक्रमण है तो इसको हटाने की सतत प्रक्रिया है। हमारी स्वयं की जांच में या अतिक्रमण की शिकायत प्राप्त होने पर कार्रवाई की जाती है। यूआईटी का अतिक्रमण दस्ता जल्द ही अभियान चलाकर अतिक्रमणों को नष्ट करेगा। 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned