पहले वोटों की लालच में सरकारी जमीन शौचालय बनावाए, अब बता रहे अतिक्रमण

पहले वोटों की लालच में सरकारी जमीन शौचालय बनावाए, अब बता रहे अतिक्रमण

Hiren Joshi | Publish: Feb, 10 2019 12:47:29 PM (IST) Alwar, Alwar, Rajasthan, India

अलवर में पहले सरकारी जमीन पर शौचालयों का निर्माण किया गया, इसके बाद अब इन्हें अतिक्रमण बताकर हटाने की पैमाइश की जा रही है।

शहर में रामायणी हनुमान मंदिर के निकट करीब एक साल पहले वोटों के लालच में सरकारी जमीन पर गरीबों के आवास के पास शौचालय बनवा दिए और अब उसी जगह अतिक्रमण हटाने के लिए पैमाइश हो रही है। इसमें भी दिलचस्प बात यह है कि रामायणी हनुमान मंदिर ट्रस्ट की ओर से करीब आठ साल पहले से यूआईटी, नगर परिषद व प्रशासन को अतिक्रमण होने की शिकायत की गई है। अब अतिक्रमण इतना अधिक हो गया कि हनुमान मंदिर पर खतरा बढ़ा तो प्रशासन ने संयुक्त टीम बनाकर पैमाइश शुरू की है। जिससे दोतरफा तस्वीर सामने आ रही है। पहले सरकार ने गरीबों को सरकारी जमीन पर कच्चे-पक्के मकान बनाते नहीं रोका।

टीबे पर बना है मंदिर

रामायणी हनुमान मंदिर टीबे पर बना हुआ है। जिसके बगल में अधिकतर वन विभाग व सरकारी जमीन है। नगर परिषद, यूआईटी, राजस्व व वन विभाग की संयुक्त टीम ने तीन दिन पहले सर्वे किया। सर्वे के नक्शे मिलान नहीं हो सके तो अब सैटलमेंट से सर्वे कराने को लिखा है। उसके बाद यह साफ हो सकेगा कि कितनी जमीन पर अतिक्रमण है। जिसे हटाया जा सकता है। मंदिर के पुजारी जगत ङ्क्षसह ने बताया कि आठ साल से प्रशासन को अवगत करा रहे हैं। अब मंदिर के नीचे से जमीन काटकर अतिक्रमण हो रहा है। जिससे मंदिर के गिरने का खतरा बढ़ रहा है। उधर, मकान बनाकर रह रहे लोगों का कहना है कि एक साल पहले सरकार ने शौचालय बनाए हैं। सडक़ भी बनाई है। अब उनको हटाया जाएगा तो वे कहां जाएं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned