अलवर रेलवे स्टेशन के सामने पूरे रोड पर मांस-मछली व अण्डे की दुकानें, नाक दबाकर निकलने को मजबूर, प्रशासन मौन

अलवर रेलवे स्टेशन के सामने पूरे रोड पर मांस-मछली व अण्डे की दुकानें, नाक दबाकर निकलने को मजबूर, प्रशासन मौन
अलवर रेलवे स्टेशन के सामने पूरे रोड पर मांस-मछली व अण्डे की दुकानें, नाक दबाकर निकलने को मजबूर, प्रशासन मौन

Lubhavan Joshi | Updated: 12 Oct 2019, 04:49:31 PM (IST) Alwar, Alwar, Rajasthan, India

अलवर रेलवे स्टेशन के बाहर मांस-मच्छी के साथ अंडे भी खुलेआम बिकते हैं, ऊपर से यहां अतिक्रमण से लोग परेशान रहते हैं।

अलवर. अलवर रेलवे स्टेशन के सामने मांस-मछली व अण्डे की दो दर्जन से अधिक दुकानों का पूरा बाजार अवैध रूप से रोड पर लगता है। जिसका कचरा आसपास फेंकते हैं। मजबूरन हर दिन करीब 50 हजार से अधिक यात्री व शहरवासी इस बदबूदार माहौल से निकलने को मजबूर हैं। इतनी बदबू व गंदा माहौल रहता है कि आमजन को वहां से नाक दबाकर निकलना पड़ता है। दिन में दर्जनों बार यहां जाम लगता है। जिसके कारण बस, जीप, दोपहिया वाहन और पैदल निकलने वाले हजारों लोगों को मुश्किल होती है। रानीमील के सामने 60 फीट रोड पर अवैध कब्जेरेलवे स्टेशन से बाहर आते ही एरोड्रम रोड की तरफ रानी मील की जमीन के आगे पूरा रोड अण्डे, मांस-मछली की दुकानों से अटा पड़ा है। फुटपाथ पर दुकानें लगती हैं। उसके आगे बैंच व कुर्सियां जमा देते हैं। जिनके आगे ग्राहकों के वाहन खड़े हो जाते हैं।

हालात यह रहते हैं कि मुख्य रोड की सफेद पट्टी के बाहर तक वाहन खड़े हो जाते हैं। रोड से निकलने को जगह नहीं बचती है। सबसे अधिक दिक्कत ट्रेन के आने के समय होती है। उस समय जब सवारी बसें वहां से निकलती हैं तो जाम में आमजन फंस जाते हैं। 30-40 कुत्तों का झुण्ड, मांस में मुंह मार रहे मांस का अपशिष्ट वहीं आसपास पड़ा होने के कारण आवरा कुत्ते मुंह मारते रहते हैं। जिसके कारण इस रोड पर 30 से 40 आवारा कुत्तों का झुण्ड घूमता है। जो आए दिन दुर्घटना का कारण बनते हैं। शाम पांच बजे बाद इस रोड पर शराब के साथ मांस परोसा जाता है। कोई रोकने वाला नहीं। जबकि यहां से अलवर आने-जाने वाले पर्यटक निकलते हैं।

यातायात पुलिसकर्मी की यहां जरूरत

रेनबसेरे के सामने यातायात पुलिसकर्मी की सख्त जरूरत है। दिनभर यहां रोड पर रिक्शा, ऑटो, ढाबे के सामने अवैध रूप से वाहन व ठेले लगते हैं। जिनके कारण जाम लगता है। यातायात पुलिस की मौजूदगी से ही इसे रोका जा सकता है।

रेनबसेरे के सामने अवैध निर्माण

रेनबसेरे के सामने अवैध निर्माण इतना ज्यादा है कि एक बड़ा वाहन वहां से सामान्य चिकित्सालय की तरफ नहीं घूम पाता। घुमाव पर दो ठेले रोड पर लगते हैं। जहां ठेले लगते हैं उनसे पहले अवैध निर्माण कर दुकानें आगे बढ़ा दी गई हैं। दुकानों के आगे ऑटो व रिक्शा खड़े होते हैं। जिसके कारण यहां जब भी ट्रेन आती है तो रेनबसेरे के सामने जाम लग जाता है। एक तरफ रिक्शे रोड पर जम जाते हैं। वहीं कुछ जगह दुकानदारों ने रोक ली है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned