इस बार भी प्याज राजस्थान के किसानों के घर लाएगा खुशहाली, विदेशों तक है इस जिले के प्याज की मांग

इस बार भी प्याज राजस्थान के किसानों के घर लाएगा खुशहाली, विदेशों तक है इस जिले के प्याज की मांग

Hiren Joshi | Publish: Sep, 04 2018 04:02:30 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/alwar-news/

बीते वर्ष प्याज के भाव अच्छे होने के कारण किसान इस बार प्याज की बुवाई को लेकर उत्साहित हैं। अब तक अलवर जिले के 60 प्रतिशत भाग में प्याज की बुवाई पूरी हो गई है। इस बार किसान प्याज की फसल को लेकर उत्साहित है। प्याज के बीज 1400 से 1500 रुपए प्रति क्विंटल बिक रहे हैं। प्याज के थोक विक्रेता आढ़ती अभय सैनी पप्पू का कहना है कि अलवर जिले में इस बार बीते साल से अधिक क्षेत्र में प्याज की बुवाई की जा रही है। इस वर्ष करीब 15 हजार हैक्टेयर में प्याज की बुवाई होने की संभावना है बीते वर्ष यह रकबा 13 हजार हैक्टेयर का था। बीते साल प्याज के भाव कम नहीं ह ोने के कारण इस साल भी किसानों को उम्मीद है कि उनकी फसल के अच्छे भाव मिलेंगे।
बीते वर्ष प्याज के भाव 25 से 35 रुपए प्रति किलो तक रहे हैं। अलवर जिले में प्याज की पैदावार पककर अक्टूबर माह में मंडी में आ जाती है जो 15 जनवरी तक आती है।

कई देशों में जाती है अलवर की प्याज

प्याज के थोक विक्रेता अशोक छाबड़ा बताते हैं कि अलवर जिले के प्याज को पाकिस्तान, बांग्लादेश सहित कई देशों में पसंद किया जाता है। देश में पंजाब, हरियाणा सहित करीब 10 राज्यों में इसकी मांग है। पाकिस्तान से भारत से निर्यात होने वाले प्याज पर कई सालों से रोक लगी हुइ है जिसके कारण अलवर का प्याज पाकिस्तान नहीं जा पा रहा है। यदि यह निर्यात खुल जाता है तो अलवर जिले के किसानों को उनकी उपज का और लाभ मिलेगा। अलवर जिले में एक बीघा में 100 से 110 कट्टों की पैदावार होती है।

Read More : अलवर जिले के पांच केबिनेट मंत्रियों पर भारी पड़ गया चूरू, अलवर की जगह चूरू में बनेगा सिंथेटिक ट्रेक

शर्मनाक : जहां हुई अलवर जिले की सबसे बड़ी कबड्डी प्रतियोगिता, वहां की स्कूलों ने नहीं खिलाई अपनी टीमें

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned