कोरोना की वजह से किसानों को पड़ रही है दोहरी मार, पहले ओलावृष्टि ने रुलाया, अब बची-कुछ फसलों को नहीं मिल रहा दाम

कोरोना के चलते किसानों को दोहरी मार पड़ रही है, किसानों को फसल का दाम नहीं मिल रहा है

अलवर. साल 2020 में पूरी दुनिया में कोरोना आफत आ गई। लेकिन, अलवर जिले के किसानों पर दोहरी मार पड़ गई। कुछ दिन पहले ही ओलावृष्टि ने आधी से अधिक फसल को चौपट कर दिया था। जो क्षेत्र ओलावृष्टि के नुकसान से बच गए तो अब कोरोना के कारण खड़ी खेती बर्बाद होने लगी है। चिकित्सक व सरकारों का कहना है कि किसान, मजदूर व आमजन सबको घरों में रहने की जरूरत है। जिससे किसानों की खेती चौपट होने लग गई है। किसान, मजदूर भी घरों से निकलने बंद हो गए हैं।

अब मजदूर भी नहीं मिल रहे

असल में अब मजदूरों को भी घरों में रुकना पड़ गया है। जिसके कारण खेतों में फसल की कटाई प्रभावित हो गई है। एक-आध किसान खेतों में काम करते दिखते हैं उनको भी जनप्रतिनिधि, प्रशासन व चिकित्सा विभाग के कर्मचारी व अधिकारी जागरूक करने में लगे हैं। कृषि विभाग के अधिकारियों का कहना है कि पूरी दुनिया पर कोरोना का संकट है। यह संक्रमण इतना खतरनाक है कि किसानों को बिल्कुल भी घरों से नहीं निकलना चाहिए। सरकार की गाइडलाइन का अनुसरण करने की सख्त जरूरत है। जितना भी किसानों को नुकसान होगा। उसकी समीक्षा होगी। ताकि आगे किसानों को उसकी भरपाई की जा सके।

सरसों की खेती पर संकट अधिक

इस समय अधिकतर जिले में सरसों की फसल पूरी पक चुकी है। कुछ क्षेत्रों में तो सरसों की कटाई के बाद फसल निकाली जा चुकी है। लेकिन, अधिकतर जगहों पर खेतों में सरसों की फसल पकी खड़ी है। बहुत जल्दी जौ की खेती भी तैयार होने वाली है। इसके बाद गेहूं की कटाई शुरू हो जाएगी। जिसके कारण किसान परेशान हैं। उनको यही डर सता रहा है कि कोरोना का संक्रमण नहीं रुका तोउनकी तैयार फसल चौपट हो सकती है।

Corona virus
Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned