राजस्थान में यहां गोतस्करों ने पुलिस पर बरसाई गोलियां, जवाब में पुलिस ने भी की ताबड़तोड़ फायरिंग

गोतस्करों ने घिरने के बाद पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाब में पुलिस ने फायरिंग की लेकिन गोतस्कर अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गए।

अलवर. गोतस्करी के लिए बदनाम अलवर जिले में ऐसी घटनाएं नहीं थम रही हैं। जिले के लक्ष्मणगढ़ में में गोतस्करों ने रात पुलिस पर गोलियां चलाई। पुलिस की जवाबी फायरिंग के बाद गोस्तकर गोवंश से भरा मिनी ट्रक छोड़कर भाग निकले।
थाना प्रभारी अजीत सिंह ने बताया कि सोमवार देर रात लगभग एक बजे सूचना मिली कि मालाखेड़ा की ओर से एक मिनी ट्रक में गोवंश ले जाया जा रहा है। उन्होंने चिमरावली जोहड़ बस स्टैण्ड पर नाकाबंदी की।

इस बीच मालाखेड़ा की ओर से आ रहे मिनी ट्रक को रोकने की कोशिश की लेकिन चालक नाकाबंदी तोड़कर मिनी ट्रक को चिमरावली गौड़ की तरफ भगा ले गया। पुलिस ने पीछा किया तो मिनी ट्रक ठेकड़ा का बास की मुड़ गया। सिंह ने बताया कि इस दौरान उन्होंने मौजपुर में नाकाबंदी करा दी, इससे ठेक ड़ा का बास के समीप गोतस्कर घिर गए। यह देख गोतस्करों ने पुलिस पर फायर खोल दिया। पुलिस ने जवाबी फायरिंग की तो गोतस्कर मिनी ट्रक को छोड़कर अंधेरे का फायदा उठाते हुए भाग निकले। पुलिस ने मिनी ट्रक की जांच की तो उसमें 12 गोवंश मिले। पुलिस ने गोवंश को टोड़ा की श्री कृष्ण गोशाला में भिजवा दिया। गोतस्करों के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी तलाश की जा रही है।

नहीं थम रही गोतस्करों की फायरिंग

अलवर जिले में गोतस्करों की ओर से फायरिंग करने की घटनाएं नहीं थम रही हैं। गत वर्ष बहरोड़ में पुलिस और क्यूआरटी के जवानों पर गोतस्करों ने फायरिंग की थी। इसके कुछ दिन बाद सीकर से चले गोतस्करों ने 14 थानों को पार किया और किशनगढ़बास में पुलिस पर फायरिंग की। जवाब में पुलिस ने भी गोतस्करों पर फायर किया।

Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned