पोस्ट ऑफिस में गंगा जल का टोटा, श्रद्धालु परेशान

अलवर. जिले के मुख्य पोस्ट ऑफिस सहित जिले के अन्य सभी डाकघरों में गंगाजल का टोटा है। पिछले दो माह से अलवर के पोस्ट ऑफिसों में गंगाजल नहीं बिक रहा है। गंगाजल आएगा या नहीं इसके बारे में कोई जानकारी भी नहीं मिल पा रही है। जीवन मरण सभी में गंगाजल का महत्व है।

By: Hiren Joshi

Published: 01 Jul 2019, 12:45 PM IST


अलवर. जिले के मुख्य पोस्ट ऑफिस सहित जिले के अन्य सभी डाकघरों में गंगाजल का टोटा है। पिछले दो माह से अलवर के पोस्ट ऑफिसों में गंगाजल नहीं बिक रहा है। जो लोग यहां गंगाजल लेने आ रहे हैं उन्हें महंगे दामों पर दूसरी जगह से लेना पड़ रहा है। गंगाजल आएगा या नहीं इसके बारे में कोई जानकारी भी नहीं मिल पा रही है। सनातन धर्म में गंगा नदी को मां का दर्जा दिया गया है। इसलिए घर परिवार में होने वाले शुभ कार्यो से पहले गंगाजल से उस जगह को पवित्र किया जाता है। जीवन मरण सभी में गंगाजल का महत्व है। राज्य सरकार ने करीब दो साल पहले पोस्ट ऑफिस के माध्यम से गांव गांव शहर शहर तक गंगाजल पहुंचाने की योजना शुरू की थी ताकि गंगाजल के लिए आमजन को ऋषिकेश व गंगोत्री नहीं जाना पड़े।

यहां मिलने वाले गंगाजल की कीमत बाजार के मुकाबले काफी कम है। 200 एमएल की बोतल 15 रुपए तथा 400 एमएल की कीमत 22 रुपए रखी गई थी। जिले के तीन दर्जन से ज्यादा पोस्ट ऑफिस में प्रतिमाह करीब 5 लीटर से ज्यादा गंगाजल की खपत हो रही थी।गंगाजल की सबसे ज्यादा मांग महाशिवरात्रि, नवरात्रि, दीपावली व सावन के सोमवार आदि पर रहती है। मंदिरों में होने वाले विशेष उत्सवों के दौरान भी गंगाजल से अभिषेक की परंपरा रही है।

मुख्यालय से कहा है, जबाव नहीं आया
&पिछले दो माह से पोस्ट ऑफिस में गंगाजल नहीं है । मुख्यालय से गंगाजल नहीं आ रहा है। मुख्यालय से गंगाजल की मांग की गई है। अभी तक कोई जवाब नहीं आया है। मुख्य पोस्ट ऑफिस में गंगाजल आते ही बिक्री शुरू हो जाएगी।
जगमोहन मीणा, मुख्य पोस्ट मास्टर, हैड पोस्ट ऑफिस, अलवर।

Hiren Joshi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned