गौरी देवी कॉलेज में भिड़ी छात्राएं, हुआ कुछ ऐसा जिससे बुलानी पड़ी पुलिस

अलवर के गौरी देवी महाविद्यालय में छात्राओं के दो गुटों में तीखी नोंकझोंक हो गई।

By: Prem Pathak

Published: 20 Jul 2018, 03:50 PM IST

अलवर. छात्रसंघ चुनावों में काफी काफी समय शेष है, लेकिन अलवर के गौरी देवी महाविद्यालय में अभी से ही छात्राओं के गुटों में विवाद हो रहा है। महाविद्यालय में गुरुवार को एबीवीपी व शिवसेना की विद्यार्थी इकाई की छात्राओं के बीच विवाद हो गया और छात्राएं आपस में भिड़ गई। विवाद इतना बढ़ा कि बाद में पुलिस को बुलाना पड़ा।

गुरुवार सुबह 11 बजे एबीवीपी की ओर से छात्राओं की विभिन्न मांगों को लेकर महाविद्यालय का गेट बंद किया गया। एबीवीपी की ओर से गेट बंद किए जाने पर युवा की छात्राएं विरोध करने लगी और गेट खुलवा दिया। इसके बाद काफी देर तक एबीवीपी व शिवसेना की छात्राओं के बीच जुबानी जंग चली। दोनों संगठनों की ओर से एक-दूसरे के खिलाफ नारेबाजी की गई। एबीवीपी की ओर से छात्रसंघ अध्यक्ष लत भोजवानी ने पुलिस के सामने खूब बहस की। इस दौरान एक हेल्प डेस्क को इन्होंने हटा दिया।

गौरी देवी महाविद्यालय की अध्यक्ष लता भोजवानी ने अन्य छात्राओं पर आरोप लगाते हुए कहा कि बुधवार को 15-20 छात्राओं की ओर से बुधवार को महाविद्यालय का गेट बंद किया गया। किसी ने इसका विरोध नहीं किया लेकिन गुरुवार को एबीवीपी के प्रदर्शन का इन्होंने विरोध किया जो गलत है।
युवा सेना के जिलाध्यक्ष खेमराज गुर्जर का कहना है कि छात्रसंघ अध्यक्ष लता भोजवानी और उनके साथ आई कार्यकर्ताओं ने युवा सेना की छात्राओं के साथ अभद्र व्यवहार किया है। भोजवानी ने प्रवेश सहायता का बैनर, सामान व हैल्प डेस्क उठाकर पटक दी। पुलिस कर्मियों के समझाने पर बदसलुकी की गई।
इस मामले में एबीवीपी व अध्यक्ष की इस अभद्र व्यवहार के खिलाफ शिव सेना का शिष्टमंडल कॉलेज प्रशासन को 20 जुलाई को सुबह 11 बजे ज्ञापन देगा।

हेल्प डेस्क हटाई

शिवसेना की छात्राओं की ओर से महाविद्यालय का गेट खुलवाने के बाद गुस्साई एबीवीपी व छात्रसंघ अध्यक्ष की ओर से शिवसेना की हेल्प डेस्क हटाई गई। इसके विरोध में शिवसेना की छात्राओं ने नारेबाजी की। गौरी देवी महिला महाविद्यालय के बाहर छात्राओं की नारेबाजी व विवाद के चलते काफी भीड़ जमा हो गई। छात्राओं के बीच विवाद बढ़ता देख महाविद्यालय प्रशासन को पुलिस बुलानी पड़ी। पुलिस ने दोनों गुटों से समझाइस कर मामले को शांत कराया।

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned