विकास की बली चढ़े डिवाइडर पर लगाए पेड़

विकास की बली चढ़े डिवाइडर पर लगाए पेड़

बहरोड़. नगरपालिका ने कस्बे में डिवाइडरों तथा सडक़ किनारे स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहर में हरियाली के लिए ट्री गार्डो में डेढ़ दो वर्ष पूर्व सैकड़ों पेड़ पौधे लगाए थे। जिससे कस्बे में हरियाली बनी रहे लेकिन पालिका द्वारा कस्बे में सडक़ किनारे बिछाई गई इंटरलॉकिंग टाइलों तथा नाला निर्माण कार्य के दौरान पेड़ पौधों तथा ट्री गार्डों की बलि चढ़ा दी गई। सडक़ किनारे लगाए गए पेड़ पौधों को देखकर लोगों ने कहा कि अब उन्हें भविष्य में गर्मी के समय इन पेड़ पौधों के नीचे बैठकर कुछ समय बिता सकेंगे लेकिन पालिका द्वारा कराए गए विकास कार्यों के दौरान इन पेड़ पौधों को काटने से सबसे ज्यादा नुकसान पैदल राहगीरों को उठाना पड़ेगा। कस्बे वासियों के कहना है कि नगरपालिका ने कस्बे की सुंदरता के लिए लगाए गए पेड़ पौधों को काटना सरासर गलत है।
इन पेड़ पौधों से लोगों को सुबह के समय ताजी हवा मिल सकती थी तथा कस्बे की सुंदरता को चार चांद लगते। वहीं कस्बे के पास अनेक धुआं फैलाने वाले उद्योग स्थित है जिनसे लगातार धुआं निकलता रहता है तथा कस्बे के पास से गुजर रहे एनएच आठ से दिनभर में हजारों वाहनों ने उडऩे वाली धूल से लोगों को निजात मिल सकती थी। वही अब कस्बे में सिर्फ कहीं कही पर ही एक दो ट्री गार्ड में पेड़ पौधे दिखाई देते है।
‘बेटियां अच्छी शिक्षा ग्रहण कर अधिकारी बनकर देश की सेवा करंे’
राजगढ़ . कस्बे के अलवर-सिकन्दरा मेगा हाइवे स्थित थानाराजाजी गांव के पेट्रोल पम्प के पास रविवार को आदिवासी सेवा संस्थान राजगढ़ के तत्वावधान में आदिवासी मीना सम्मेलन एवं छात्रावास की भूमि का पूजन समारोह राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीना के मुख्यातिथ्य में आयोजित हुआ।
समारोह में डॉ. मीना ने कहा कि हमें मिलजुलकर, संगठित होकर अपने हक की लड़ाई लडऩी होगी। समाज पर किसी भी प्रकार की विपत्ति आएगी तो जनप्रतिनिधियों को हमारे साथ होना चाहिए। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में कानून की पालना होती है। कानून का राज्य है। कानून को अपने हाथ में नहीं लें। समाज मेें फैली हुई कुरीतियों को दूर करे, सोशल मीडिया से समाज का नैतिक पतन हो रहा है। इसलिए सर्वसमाज को उस पर विचार करना होगा। छात्रावास में रहकर बेटियां अच्छी शिक्षा ग्रहण कर अधिकारी बनकर देश की सेवा करें। उन्होंने कहा कि छात्रावास किसी भी प्रकार से राजनीति का अड्डा नहीं बनना चाहिए। छात्रावास में रहकर अच्छी शिक्षा लेकर राष्ट्र व समाज की सेवा करंे। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए थानागाजी के विधायक कांतिप्रसाद मीना ने कहा कि छात्रावास में रहकर अधिकारी बनकर समाज की सेवा करें। इस मौके पर आदिवासी सेवा संस्थान राजगढ़ के अध्यक्ष रामकिशन आदूका के नेतृत्व में राज्यसभा सांसद डॉ. किरोडीलाल मीना को दिल्ली, मुम्बई एक्सप्रेस हाइवे का एनसीआर की दर से मुआवजा दिलाने, चम्बल का पानी लाने तथा आवारा पशुओं पर रोक लगाकर किसानों की दशा सुधारने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा।
आदिवासी मीना सम्मेलन में महिला शिक्षा को बढ़ावा देने, आवासीय छात्रावास खोलने, समाज में फैली कुरीतियों को दूर करने, समाजोत्थान, सामाजिक जागृति, संगठनात्मक एकता तथा बसंत पंचमी पर सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित करने पर चर्चा की गई। कार्यक्रम के अतिथि सरस डेयरी के चेयरमैन बन्नाराम मीना, अमरचंद फौजी, विजय समर्थलाल मीना, सुनीता मीना, वरिष्ठ आरएएस कमलराम मीना ने अपने विचार रखे। इससे पूर्व छात्रावास की भूमि का बालकदास महाराज, पांच कन्याओं एवं अतिथियों ने पूजन कर आधारशिला रखी। संस्थान के अध्यक्ष रामकिशन आदूका एवं महासचिव रामस्वरूप झालाटाला ने बताया कि समारोह में आरएएस डीसी मीना बबेली, ओपी मीना, केसी मीना, मीन भगवान मंदिर कमेटी दुब्बी -भजेड़ा के अध्यक्ष रामकृपाल मीना, डीसी जामड़ोली, शिवराम मीना, लल्लूराम खुर्द, रामस्वरूप रतनपुरा, धर्मपाल बबेली, राजेन्द्र मीना सकट, जसराज बबेली, बनवारीलाल मीना, जयनारायण मीना, रामनिवास झालाटाला, कंवरपाल बबेली, सीएल मीना, लालचंद फौजी, बद्रीप्रसाद कचावा, कृपीराम मीना, रेशमा कचावा, कुलदीप लीली, धनपाल काली पहाड़ी, मूलचंद धौलान सहित हजारों महिला-पुरूष मौजूद थे। मंच का संचालन रामनिवास झालाटाला ने किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned