अलवर मेे गुरमत समागम हुआ प्रारंभ, नगर कीर्तन में दिखी श्रद्धा

अलवर मेे गुरमत समागम हुआ प्रारंभ, नगर कीर्तन में दिखी श्रद्धा

Dharmendra Adlakha | Publish: Feb, 15 2018 02:56:20 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

अलवर में गुरमत समागम की शुरुवात हो गई, इस अवसर पर हजारों साधु-संतो ने इसमें भाग लिया।

अलवर. मनुमार्ग स्थित शाह साहब के गुरद्वारे में बुधवार को गुरमत समागम के प्रारम्भ होने से पूर्व साधु-संतों का भंडारा हुआ, जिसमें बड़ी संख्या में साधु-संतों ने प्रसादी ग्रहण की। भंडारे में आए साधु-संतों को वस्त्र एवं दक्षिणा भेंट दी गई।
शाह साहब के गुरद्वारे में सुबह से ही साधु-संतों का पहुंचना प्रारम्भ हो गया। अलवर जिले के विभिन्न भागों और समीपवर्ती जिलों से आए साधु-संतों को सम्मान पूर्वक बैठाया गया। यहां सुबह 9 बजे साधु-संतों का भंडारा प्रारम्भ हुआ जिसमें सेवादारों ने इन्हें भोजन कराया। साधु-संतों के भोजन ग्रहण करने के समय यहां कीर्तन चलता रहा, जिसमें वाहे गुरु की महिमा को बताया गया। जितेन्द्र मदान कुक्कू और बसंत गांधी की अगुवाई में कीर्तन दरबार सजा। सैकड़ों की संख्या में साधु-संतों के आने से वातावरण पूरी तरह भक्तिमय हो गया। संत रेन डॉ. हरभजन शाह सिंह महाराज ने स्वयं साधु-संतों को वस्त्र व दक्षिणा दी। इसके बाद लंगर का आयोजन किया गया।

सुबह हुआ अखंड पाठ

मनुमार्ग स्थित शाह साहब के गुरुद्वारे में गुरमत समागम 15 फरवरी से प्रारम्भ होगा जो 17 फरवरी तक चलेगा। समागम के प्रथम दिन गुरुवार को सुबह 5 बजे निशान साहब की पूजा अर्चना होगी। निशान साहब पर नारियल व वस्त्र चढ़ाया जाएगा। यहां दूर दराज से आए श्रद्धालु अपनी मन्नत मांगते हैं जिसके पूरी होने पर वे यहां पूजा अर्चना करते हैं। इसी के साथ ही सुबह 7 बजे खंडेलवाल धर्मशाला के समीप स्थित सुखधाम गुरद्वारे में अखंड पाठ रखा जाएगा। गुरमत समागम की समाप्ति के साथ यहां भोग पड़ेगा। गुरुद्वारा सुखधाम से सुबह 9 बजे नगर कीर्तन की शुरुआत हुई। नगर कीर्तन में हजारों श्रद्धालु कीर्तन करते हुए चले। इस अवसर पर महिला श्रद्धालु सडक़ पर झाडू लगाती हुई चलती हैं। नगर कीर्तन मुख्य बाजारों से होता हुआ मनुमार्ग स्थित गुरुद्वारे में पहुंचा। इसके साथ ही गुरमत समागम प्रारम्भ हुआ। समागम के अंतिम दिन 17 फरवरी को सामूहिक विवाह आनंद कारज होंंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned