दिवाली पूजन के बाद दीपक जलता छोड़ गए, 12 से अधिक दुकानों में लगी आग, 10 घंटे में पाया काबू

राजस्थान में अलवर शहर के सबसे व्यस्ततम बाजार चूड़ी मार्केट में एक दर्जन से अधिक दुकानों में आग लगने से करीब पांच करोड़ रुपए का सामान जलकर राख हो गया।

By: santosh

Updated: 15 Nov 2020, 01:06 PM IST

अलवर। राजस्थान में अलवर शहर के सबसे व्यस्ततम बाजार चूड़ी मार्केट में एक दर्जन से अधिक दुकानों में आग लगने से करीब पांच करोड़ रुपए का सामान जलकर राख हो गया। सबसे ज्यादा नुकसान साड़ीज के शोरूम में हुआ है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची दमकल को आग को काबू में करने में 10 घंटे लग गए। फिर भी सुबह तक दुकानों में धुआं उठता रहा। दमकल की 12 गाड़ियां लगातार आग बुझाने का प्रयास करती रहीं। 12 दमकल वाहनों ने करीब 100 से अधिक चक्कर लगाकर आग पर काबू करने का प्रयास किया।

पुलिस ने बताया कि शहर के व्यस्ततम बाजार चूड़ी मार्केट में अग्रवाल कॉम्प्लेक्स में स्थित दुकान अग्रवाल साड़ीज में दिवाली पूजन के बाद सबसे पहले आग लगी। इसके बाद आग चूड़ी मार्केट के अग्रवाल साड़ी, गोयल मैचिंग, यतिका साड़ी, मॉर्डन साड़ी एवं बंसल साड़ी के शोरूम में सबसे ज्यादा आग पकड़ी। अग्रवाल कॉन्प्लेक्स में करीब दो दर्जन से अधिक दुकानें हैं और यह कॉन्प्लेक्स तीन मंजिला बना हुआ है । ये कॉम्प्लेक्स सुभाष अग्रवाल का बताया गया है।

आग लगने के बाद सभी दुकानदारों में हड़कंप मच गया। आग से करीब एक दर्जन दुकानें चपेट में आई गयीं और हालात यह हो गए कि पूरा कॉम्प्लेक्स ही जर्जर हो गया। मौके पर पहुंचे नगर परिषद के आयुक्त सोहन सिंह नरूका ने बताया कि इस आग में करीब 15 से 20 दुकानें प्रभावित हुई हैं और 12 दमकल ने करीब 10 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

आग के कारणों का भी कोई पता नहीं चला है लेकिन आग को बुझाने में इसलिए काफी परेशानी महसूस हुई। क्योंकि अतिक्रमण के कारण और सकड़ी गली के कारण दमकल घटनास्थल तक पहुंच नही पा रही थी। उन्होंने बताया कि अभी यह नहीं कहा जा सकता कितना नुकसान हुआ है लेकिन नुकसान काफी हुआ है यह दुकानदारी बताएंगे कि नुकसान कितना हुआ है।

इधर गणेश मार्केट एसोसिएशन के मंत्री राजेश बंसल ने बताया कि आग किस कारण लगी अभी पता नहीं चला है। लेकिन प्रशासन ने आग पर काबू पाने के पूरे प्रयास किए और 10 घंटे तक मशक्कत चलती रही। आग की सूचना के बाद पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम, सहायक पुलिस अधीक्षक विकास सांगवान, अतिरिक्त जिला कलेक्टर रामचरण शर्मा, अलवर शहर विधायक संजय शर्मा, नगर परिषद आयुक्त बीना गुप्ता भी मौके पर पहुंची।

वैसे आग के कारण अभी स्पष्ट नहीं हुए है, कोई बिजली शार्ट सर्किट से आग लगने की बात कह रहे हैं जबकि किसी ने बताया कि दिवाली पूजन के लिए जलाए दिए की लौ से साड़ियों ने आग पकड़ ली और देखते ही देखते पूरी दुकान में फैल गई। बाद में पूरे काम्प्लेक्स में आग लग गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned