राजस्थान में Hydroxychloroquine टेबलेट के इस्तेमाल को लेकर आई बड़ी खबर, बाजार में दवा की सप्लाई बंद

Hydroxychloroquine दवा की सप्लाई बाजार में बंद कर दी है, लेकिन इससे पहले राजस्थान में इसका काफी इस्तेमाल किया जाता था

By: Lubhavan

Published: 18 Apr 2020, 12:17 PM IST

अलवर. दुनिया भर में कोरोना के इलाज में काम आ रही हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा अलवरवासी सालों से खाते आए हैं। अकेेले अलवर जिले में प्रति माह करीब 30 हजार टेबलेट मरीज खा जाते हैं। असल में यह दवा मुख्य रूप से गठिया-बाय बीमारी वाले मरीजों के इलाज में दी जाती है। हालांकि कोरोना पॉजिटिव पाए जाने वाले मरीजों को दूसरी दवा के काम्बीनेशन के साथ देते हैं। जिसमें मलेरिया के इलाज में काम आने वाली दवा क्लोरोक्वीन भी होती है।

वैसे हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा का उपयोग कोविड-19 के इलाज में लगे नर्सिंग स्टाफ, चिकित्सक व अन्य कार्मिको को भी देते हैं। ताकि उनमें संक्रमण की गुजाइश कम से कम हो। अलवर जिले में हर माह करीब 30 हजार टेबलेट अलवर के मरीज खाते हैं। मलेरिया की दवा की खपत तो मुख्य रूप से जून, जुलाई व अगस्त माह में होती है। अब दुनिया भर में इस दवा की खपत होने के कारण सामान्य तौर पर बाजार में सप्लाई पर रोक लगा दी है। दुकानों पर भी अब हाइड्रोक्सोक्लोरोक्वीन दवा नहीं है।
तीन-चार कम्पनी बना रही यह दवा

देश में प्रमुख रूप से तीन-चार प्रमुख कम्पनी ही हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा निर्माता हैं। जिनके प्लांट रतलाम, देहरादून, सिक्किम व कांडला सहित कई जगह हैं। प्रमुख रूप से इप्का, सिप्ला व वेलिस सहित कई दवा निर्माता कम्पनी हैं। जानकारों के अनुसार यह दवा पूरे संसार में करीब 70 प्रतिशत भारत में ही बनती है। जिसकी पूरे देश में करीब 150 करोड़ रुपए की कीमत की 20 करोड़ टेबलेट प्रति माह खप जाती हैं। औसतन एक टेबलेट करीब सात रुपए में मिलती है। विकसित देशों में इस दवा की जरूरत इसलिए नहीं होती कि वहां मलेरिया जैसी बीमारियां फैलती नहीं हैं।

स्टॉकिस्ट के पास दवा नहीं

अब हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा की सप्लाई बंद है। हम अस्पतालों में पहले से उपलब्ध दवा ही काम ले रहे हैं। यह दवा मुख्य रूप से गठिया-बाय के मरीजों के इलाज में ही काम आती है। जिले में भी बड़ी संख्या में गठिया-बाय के मरीज हैं। कोविड 19 के इलाज में लगे स्टाफ को भी सप्ताह में दवा दी जाती है।
जीएस सोलंकी, एमडी फिजिशियन , सोलंकी अस्पताल

अब कोविड 19 के इलाज में काम ले रहे

अब पूरे भारत में कोविड 19 के इलाज में यह दवा काम ली जा रही है। अमेरिका सहित कई विकसित देशों में भी दवा की बड़ी मांग है। इसके अलावा दवा बनाने वाली कम्पनी नियमित रूप से बड़े स्तर पर दवा बनाने में लगी हैं। फिलहाल आम सप्लाई को रोक दिया है। सरकार के स्तर पर मॉनिटरिंग होने लगी है।
नगेन्द्र शर्मा, जोनल सेल्स मैनेजर, नैमिगो फार्मा प्रालि

Corona virus COVID-19
Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned